surat news-सीबीडीटी का एक फैसला और कम हो गए आयकर के लाखो केस

surat news-सीबीडीटी का एक फैसला और कम हो गए आयकर के लाखो केस

Pradeep Devmani Mishra | Publish: Aug, 08 2019 08:35:04 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

एक करोड़ रुपए से अधिक टैक्स बनता हो तो तभी जा सकेंगे हाइकोर्ट
सेन्ट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्स ने सभी कमिश्नरेट को दिेए निर्देश

सूरत
सेन्ट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्स ने टैक्स के मामलों में बढ़ती कानूनी प्रक्रियाओं के भार को कम करने के लिए अहम फैसला लिया है। अब से एक करोड रुपए से अधिक का टैक्स की जिम्मेदारी हो तभी आयकर विभाग हाइकोर्ट में केस कर सकता है।
देशभर में बड़ी संख्या में कर संबंधित मामलों में आयकर विभाग की ओर से केस दायर किए गए हैं। इनका फैसला जल्दी नहीं आने के कारण सरकार की आय भी नहीं होती और साथ में ही समय भी बिगड़ता है। इसे देखते हुए सीबीडीटी ने अब से फैसला किया है कि करदाता के खिलाफ 50 लाख रुपए से अधिक की जिम्मेदारी हो तभी डिपार्टमेन्ट ट्रिब्यूनल में अपील कर सकता है। एक करोड़ रुपए से अधिक हो तब हाइकोर्ट में और दो करोड़ रुपए से अधिक हो तब सुप्रिम कोर्ट में केस कर सकता है। अब तक यह सीमा ट्रिब्यूनल के लिए 20 लाख, हाइकोर्ट के लिए 50 लाख रूपए थी। बताया जा रहा है कि सूरत समेत देशभर में अेपलेट ट्रिब्यूनल के समक्ष 20 लाख रुपए तक के मामले अधिक है। सीए एस. के काबरा ने बताया कि नए फैसले से ट्रिब्यूनल के समक्ष केस का भार कम होगा। इस फैसले से करदाताओं को राहत होगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned