SURAT NEWS: ब्रिज तोडऩे से पहले मनपा दें वैकल्पिक व्यवस्था

परवत गांव क्षेत्र में माधवबाग सोसायटी के प्रवेशद्वार पर बने खाड़ी ब्रिज को तोडऩे के लिए पहुंचे मनपा दस्ते का शनिवार को क्षेत्रीय लोगों ने जमकर विरोध किया

By: Dinesh Bhardwaj

Published: 15 May 2021, 08:36 PM IST

सूरत. परवत गांव क्षेत्र में माधवबाग सोसायटी के प्रवेशद्वार पर बने खाड़ी ब्रिज को तोडऩे के लिए पहुंचे मनपा दस्ते का शनिवार को क्षेत्रीय लोगों ने जमकर विरोध किया। क्षेत्रीय लोगों की मांग थी कि ब्रिज तोडऩे से पहले प्रशासन को वैकल्पिक व्यवस्था देनी चाहिए, यह छह हजार से ज्यादा लोगों का आने-जाने का मुख्य मार्ग है।
घटना के संबंध में क्षेत्रीय लोगों ने बताया कि शुक्रवार को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल, महापौर हेमाली बोघावाला, विधायक संगीता पाटिल समेत मनपा अधिकारी खाड़ी ब्रिज के पास पहुंचे थे और खाड़ी बाढ़ को ध्यान में रख आवश्यक निर्देश दिए गए थे। इसके बाद शनिवार सुबह मनपा प्रशासन मशीनरी के साथ मौके पर पहुंच गया और खाड़ी ब्रिज तोडऩे की कार्रवाई शुरू करें, उससे पहले ही क्षेत्रीय लोग वहां जमा होकर विरोध करने लगे। इसी दौरान महिलाएं ब्रिज पर ही बैठ गई और रास्ते से आवागमन बंद हो गया। इस संबंध में क्षेत्रीय अशोक बच्छावत, महेंद्रसिंह राजपुरोहित समेत अन्य ने बताया कि खाड़ी ब्रिज को खाड़ी बाढ़ के लिए जिम्मेदार बताया जाना कहीं से व्यवहारिक नहीं है। इस ब्रिज से माधवबाग, नंदनवन, वृंदावन, ब्रजभूमि, ऋषिविहार, सत्यम-शिवम, सुमन आवास, श्रीवर्धन व श्रीनिकेतन आदि सोसायटियों के छह हजार से अधिक लोगों का रोजाना का आना-जाना है, ऐसे में बगैर किसी तरह की वैकल्पिक व्यवस्था के इसे तोड़े कहीं से योग्य नहीं है। गौरतलब है कि माधवबाग के प्रवेशद्वार पर स्थित खाड़ी ब्रिज को तोडऩे के प्रयास भूतकाल में तीन-चार दफा हो चुके हैं और हर बार क्षेत्रीय लोगों के विरोध से यह प्रशासनिक कार्रवाई रुक जाती है। घटना के दौरान महानगरपालिका में प्रतिपक्ष नेता व आम आदमी पार्टी के पार्षद धर्मेश भंडेरी व अन्य भी यहां पहुंचे और क्षेत्रीय लोगों की बात सुनी।

Dinesh Bhardwaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned