surat news; साड़ी की मांग घटी, सूरत के लिए खतरे की घंटी

कॉटन कपड़े पहनने में आरामजनक होने के कारण महिलाए उन्हें ज्यादा पसंद करती है

By: Pradeep Mishra

Published: 07 Jul 2019, 08:26 PM IST

सूरत
साड़ी की डिमांड लगातार घटते जा रही है। उसके स्थान पर ड्रेस, टॉप आदि ने ले ली है। कुछ वर्षो पहले तक सूरत के पॉलिएस्टर ड्रेस मटीरियल्स की अच्छी मांग रहती थी, लेकिन अब उसका स्थान भी कॉटन कपड़ों ने ले लिया है। कॉटन कपड़े पहनने में आरामजनक होने के कारण महिलाए उन्हें ज्यादा पसंद करती है।
सूरत के ड्रेस व्यापारियों को इसका बड़ा झटका लगा है। कइयों ने तो इस कारण ड्रेस का व्यापार छोड़कर साड़ी का व्यापार शुरू कर दिया और कुछ ने तो कॉटन कपड़ों का व्यापार शुरू कर दिया है। कपड़ा उद्यमी कमल विजय तुलस्यान ने बताया कि बदलते फैशन के अनुसार नहीं बदलने वाले कपड़ा उद्यमियों के लिए आगामी दिनो में संकट आ सकता है। तुलस्यान ने कहा कि पिछले पांच सालों में सूरत के कपड़ों की मांग घटी है। बाहर की मंडियों में लगातार नई फैशन और नए क्रिएशन की मांग बढ़ रही है। सूरत के कपड़ो की मांग घटने के कारण सूरत में अब उद्यमियों को मंदी का सामना करना पड़ रहा है। इन दिनों त्यौहारों का सीजन होने के बाद भी 70 प्रतिशत उत्पादन क्षमता पर प्रोसेसिंग यूनिट चल रहे हैं। नए उद्यमी कपड़ा उद्योग मे ंआने के लिए तैयार नहीं हैं। सूरत के ज्यादातर कपड़ा उद्यमी अभी भी एक ही तरह से साड़ी और ड्रेस मटीरियल्स के उत्पादन कर रहे हंै। कुछ लोगों ने गारमेन्ट की तरफ कदम बढ़ाए जो कि अच्छी बात है और आने वाले दिनों में उन्हीं का भविष्य है।

Pradeep Mishra Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned