SURAT NEWS: प्राथमिक स्तर पर एक सौ करोड़ जुटाने का है लक्ष्य

श्रीरामजन्मभूमि समर्पण निधि संग्रह अभियान में लक्ष्यांकित समर्पण निधि संग्रहित होने की है उम्मीद, इसके बाद एक से 15 फरवरी तक घर-घर सम्पर्क और इसमें भी 40 करोड़ की राशि के संग्रह का अनुमान

 

By: Dinesh Bhardwaj

Published: 16 Jan 2021, 08:18 PM IST

सूरत. सूरत की तासीर ही कुछ ऐसी है कि जब देने की बात आए तो फिर यहां रुकावट नहीं आती और उस पर भी स्वयं से जुड़ा मसला हो तो फिर कहना ही क्या....। पूरे 492 वर्ष तक कई संघर्ष और प्राणों की आहुतियों के बाद 21वीं सदी में वो ऐतिहासिक क्षण अयोध्या में प्रभु श्रीरामजन्मभूमि मंदिर निर्माण का आया है तो भला इसमें सूरत नगरी कैसे पीछे रह सकती है और है भी नहीं। यहीं वजह है कि श्रीरामजन्मभूमि समर्पण निधि संग्रह अभियान के प्राथमिक स्तर पर सूरत से एक सौ करोड़ की राशि जुटाने का लक्ष्य रखा गया और इसका करीब बीस फीसद हिस्सा अभियान के पहले ही दिन संग्रहित भी हो चुका है।


-यूं बनाई गई है संग्रह योजना


राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ व विश्व हिन्दू परिषद महानगर इकाई आधारित सूरत महानगर के सात जिलों में श्रीरामजन्मभूमि समर्पण निधि संग्रह समिति कार्यालय खुल चुके हैं और सभी जगहों पर सूर्यदेव के मकर राशि में प्रवेश के साथ ही शुक्रवार से संग्रह अभियान प्रारम्भ भी हो चुका है। अभियान के पहले पंद्रह दिन अर्थात 30 जनवरी तक बड़ी राशि का संग्रह किया जाएगा और यह राशि एक लाख से अधिक की है। इसके बाद एक फरवरी से 15 फरवरी तक घर-घर सम्पर्क किया जाएगा और इसमें 10, 100 व एक हजार रुपए के कूपन से समर्पण निधि संग्रहित की जाएगी।


-औद्योगिक-व्यापारिक स्तर


सूरत के हीरा, कपड़ा समेत अन्य व्यापार-उद्योग से जुड़े व्यवसायियों को इस मुहिम में जोड़ा गया है और हीरा उद्यमी गोविंद धोळकिया ने 11 करोड़ के सहयोग से इसकी शुरुआत की है। अब आगे इस कड़ी में हीरा, कपड़ा व अन्य उद्योग के कई उद्यमियों को जोडऩे के प्रयास किए जा रहे हैं। अनुमान के मुताबिक बड़े उद्यमियों से संग्रहित समर्पण निधि 40 करोड़ तक होगी।


-सामाजिक स्तर


शहर में अलग-अलग समाजों के कई सामाजिक संगठन है और इन समाजों से संग्रह की जिम्मेदारी समाज का ही कोई एक बड़ा संगठन देख रहा है। अकेले अग्रवाल समाज ने 5 करोड़ का लक्ष्य रखा है और अग्रवाल विकास ट्रस्ट की देखरेख में जारी संग्रह अभियान में अभी तक संग्रह राशि तीन करोड़ के पार भी पहुंच चुकी है। इस तरह से समर्पण निधि का लक्ष्य 20 करोड़ तक है।


-घर-घर सम्पर्क और बड़ी राशि


सूरत महानगर के सभी सात जिलों में 8 से 10 लाख घरों में जाकर अभियान से जुड़े कार्यकर्ता सम्पर्क साधेंगे। इसके लिए 10, 100 व एक हजार रुपए के कूपन की जिस तरह की व्यवस्था की गई है वो 40 करोड़ तक की है। यह कूपन कार्यकर्ता महानगर के प्रत्येक क्षेत्र में घर-घर जाकर व्यक्ति की ईच्छा मुताबिक दिए जाएंगे और समर्पण निधि संग्रहित की जाएगी।


-भाजपा का सहयोग 50 लाख करीब


श्रीरामजन्मभूमि मंदिर निर्माण निधि समर्पण अभियान के पहले ही दिन समिति के मुख्य कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में भाजपा के सभी सांसद, विधायक व अन्य पदाधिकारी मौजूद थे। कार्यक्रम के दौरान अधिकांश ने समर्पण निधि के चैक समिति के पदाधिकारियों को सौंपे और कुल सहयोग 50 लाख करीब का होने की जानकारी मिली है।

Show More
Dinesh Bhardwaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned