सूरत ग्रामीण की कानून व्यवस्था पर उठे सवाल

Mukesh Sharma

Publish: Jul, 13 2018 09:15:20 PM (IST)

Surat, Gujarat, India
सूरत ग्रामीण की कानून व्यवस्था पर उठे सवाल

सूरत जिला पंचायत के एक सदस्य और सायण शुगर मिल के निदेशक दर्शन नायक ने सूरत ग्रामीण में कानून व्यवस्था की हालत पर सवाल...

सूरत।सूरत जिला पंचायत के एक सदस्य और सायण शुगर मिल के निदेशक दर्शन नायक ने सूरत ग्रामीण में कानून व्यवस्था की हालत पर सवाल उठाते हुए प्रदेश के गृह सचिव को ज्ञापन सौंपा है। इसमें बताया गया है कि सूरत ग्रामीण में अपराध की दर लगातार बढ़ रही है। इससे किसानों और लोगों में असुरक्षा की भावना पैदा हो रही है। ज्ञापन में १ जून, २०१७ से ५ जनवरी, २०१८ के दौरान सूरत ग्रामीण के सभी सात थानों में दर्ज हुए ३ हजार ४८३ प्रकरणों की आरटीआइ के तहत निकाली गई जानकारी शामिल की गई है।

हत्या, लूट, चोरी, महिलाओं से छेड़छाड़ और शराब की बिक्री बढ़ रही है। आबादी के अनुपात में पुलिसकर्मियों की संख्या बहुत कम है। विभिन्न थानों में जितने पुलिसकर्मियों के पद मंजूर किए गए हैं, उनमें से अधिकतर रिक्त हैं। सूरत ग्रामीण के सात थानों में से एक ओलपाड का उदाहरण दिया गया है, जहां २४ पुलिसकर्मियों के पद रिक्त हैं। कानून व्यवस्था में सुधार के लिए बड़ी संख्या में प्रशिक्षित पुलिसकर्मियों की नियुक्ति की मांग की गई है।

छह महीने के मामले

पुलिस थाना दर्ज प्रकरण
बारडोली ६०५
उमरपाड़ा १३४
पलसाणा ५३८
कामरेज ७६३
ओलपाड ६१८
मांडवी ३८३
कोसंबा ४४२
कुल ३४८३

15 दिन में भुगतान का वादा कर धोखा

पंद्रह दिन में उधार लिए माल का भुगतान करने का वादा कर धोखाधड़ी के आरोप में सलाबतपुरा पुलिस ने एक दलाल समेत तीन जनों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस के मुताबिक भाठेना उमिया माता मंदिर के निकट रहने वाले मनीष पटेल, जनक और दलाल मनोज ने मिलकर पीपलोद सांस्कृत अपार्टमेंट निवासी यार्न व्यापारी ललित जैन के साथ धोखाधड़ी की।

भेस्तान के यूनिटी एस्टेट में मनीष टैक्सटाइल के नाम से कारोबार करने वाले मनीष और जनक ने दलाल मनोज के जरिए बेगमवाडी श्री श्याम मार्केट में बालाजी टैक्सटाइल नाम से यार्न का कारोबार करने वाले ललित से व्यापारिक संबंध बनाए।

जनक ने १३ जनवरी, २०१५ से १० जून, २०१६ के दौरान ७ लाख ८० हजार ४६२ रुपए का यार्न लिया, लेकिन १५ दिन के वादे के मुताबिक भुगतान नहीं किया। पेमेंट मांगने पर उन्होंने अलग-अलग समय ४९ हजार ९०० और ४० हजार रुपए के दो चैक दिए, जो बैंक से रिटर्न हो गए। उसके बाद भी भुगतान नहीं किया। ललित ने रविवार शाम सलाबतपुरा थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाई।

Ad Block is Banned