सूरत का अठवा जोन कोरोना का नया हॉटस्पॉट, 28 दिन में 1466 मरीज

- कपड़ा व्यापारी, बिजनसमैन समेत करीब 50 लोग रोजाना मिल रहे संक्रमित

By: Sanjeev Kumar Singh

Published: 30 Sep 2020, 10:25 PM IST

सूरत.

शहर में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या रोजाना फिर से 300 के पार पहुंच रही है। इसमें सबसे अधिक अठवा जोन से पॉजिटिव केस मिल रहे हैं। सितम्बर में करीब पन्द्रह सौ मरीजों के साथ अठवा जोन नया हॉट स्पॉट के रूप में उभरा है जो मनपा स्वास्थ्य विभाग व शहरवासियों की चिंता बढ़ाने का सबसे बड़ा कारण है। अब तक अठवा जोन से सर्वाधिक 3,811 पॉजिटिव मरीज मिले हैं।

वैश्विक महामारी की रोकथाम के लिए मनपा स्वास्थ्य विभाग के द्वारा कई कदम उठाए गए हैं। मार्च से अब तक शहर में कुल 21,143 कोरोना पॉजिटिव मिले, जिसमें 19,032 को स्वस्थ होने के बाद छुट्टी दी गई है। शहर में पिछले महीने मई में 1003 पॉजिटिव मरीज मिले थे। इसके बाद जून में 3,116 मरीज सामने आए थे। वहीं, जुलाई में सर्वाधिक 6,263 मरीज सामने आए थे। अगस्त में कोरोना मरीजों की संख्या में मामूली कमी देखी गई और 5489 मरीजों की पहचान हुई थी। इसके बाद सितम्बर में अब तक 4,678 कोरोना मरीज सामने आ चुके हैं।

अगर सिर्फ अठवा जोन की बात करें तो 31 मई को कोरोना मरीजों की संख्या सिर्फ 45 थी, जो 30 जून को बढक़र 259 और 31 जुलाई को 1098 हो गई। वहीं, 31 अगस्त को अठवा जोन में 2345 और 28 सितम्बर को 3811 मरीज हो गए। सितम्बर में सबसे अधिक कोरोना के 1466 मरीज सिर्फ अठवा जोन में ही सामने आए हैं। यह आंकड़ा अब तक का किसी एक जोन में मिले सबसे अधिक कोरोना मरीज का है।

पहले लिम्बायत व रांदेर थे हॉटस्पॉट

गौरतलब है कि रांदेर और लिम्बायत जोन सबसे पहले कोरोना का हॉट स्पॉट बनकर सामने आए थे। यहां क्रमश: 3222 और 2327 मरीज मिले हैं। बाद में कतारगाम ने इन दोनों जोन को पीछे छोड़ दिया। अब तक कतारगाम में 3704 मरीज मिले हैं, लेकिन अब अठवा जोन ने शहर में सबसे अधिक 3811 मरीजों के साथ बढ़त ले ली है।

टेक्सटाइल से जुड़े अधिक संक्रमित

डोर टू डोर सर्वे में तीन टीम लगाई अठवा जोन में सबसे अधिक कोरोना पॉजिटिव आने के पीछे टेक्सटाइल इंडस्ट्री को जिम्मेदार बताया जा रहा है। ज्यादातर टेक्सटाइल इंडस्ट्री से जुड़े लोग इसी अठवा जोन में रहते हैं। मनपा स्वास्थ्य विभाग की तीन टीम कोरोना रोकथाम के लिए लगाई गई है। यह तीनों टीमें अधिक से अधिक संदिग्ध लोगों की पहचान कर कोरोना को रोकने में जुटी है। यह तीन क्षेत्र सबसे अधिक प्रभावित अठवा जोन में सबसे अधिक कोरोना प्रभावित तीन क्षेत्रों की पहचान की गई है। मनपा स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि सिटीलाइट, अलथान और वेसू क्षेत्र में सबसे अधिक कोरोना मरीज सामने आ रहे हैं। मनपा की टीम को इन तीनों क्षेत्रों में अधिक सक्रिय किया है। इसके अलावा टेक्सटाइल मार्केट में भी जांच अभियान चलाकर कोरोना को रोकने के प्रयास किए जा रहे हैं।

भटार रोड पर रैपिड टेस्ट शुरू

भटार रोड अलथाण क्षेत्र में मंगलवार को मनपा स्वास्थ्य विभाग की टीम सडक़ पर कैम्प लगाकर जांच करती दिखाई दी है। टीम तख्ती लेकर आने-जाने वाले लोगों को मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग का का संदेश दे रही है।

सोसायटियों में डिसइन्फेक्ट का कार्य

कोरोना केस मिलने के बाद उस क्षेत्र को सेनेटाइज करने की प्रक्रिया तेज कर दी गई है। भटार, वेसू क्षेत्र में मनपा स्वास्थ्य विभाग की टीमें सोसायटी के अंदर पॉजिटिव केस मिलने वाले घर के आसपास डिसइंफेक्शन का कार्य किया। इसके अलावा सोसायटी के लोगों को सरकार की गाइडलाइसन का पालन करने तथा दूसरों को भी गाइडलाइन का अनुसरण करवाने की अपील की गई हैं।


शहर में कोरोना मरीज (सितम्बर)

जोन / पॉजिटिव

सेंट्रल - 354

वराछा-ए - 405

वराछआ-बी - 311

रांदेर - 845

कतारगाम - 579

लिम्बायत - 346

उधना - 372

अठवा - 1466

कुल -4678

अठवा जोन में ऐसे बढ़े मरीज

माह / मरीज

जून- 214

जुलाई- 839

अगस्त- 1247

सितम्बर- 1466

सुपर स्प्रेडरों की जांच अधिक

अठवा जोन में स्वास्थ्य विभाग की तीन टीमें लगाई गई है। विशेष रुप से सुपर स्प्रेडरों की जांच करके संदिग्ध कोरोना मरीजों की पहचान की जा रही है। पूरानी बमरोली और नया बमरोली क्षेत्र से आने वाले लोगों की भी जांच की जा रही है। पेट्रोल पंप, स्ट्रीट फुड वेंडर आदि पर भी जांच बढ़ाई है। खासतौर से अठवा जोन में शनिवार और रविवार को सभी कॉमर्शियल एक्टिविटी बंद करने के निर्देश दिए हैं। डुमस बीच तो फिलहाल बंद ही रखा गया है।

बंछानिधि पाणि, आयुक्त, महानगरपालिका, सूरत।

Sanjeev Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned