यात्रियों ने ढाई घंटे रोकी सूरत-विरार पैसेंजर ट्रेन

Mukesh Sharma

Publish: Oct, 12 2017 10:28:57 (IST)

Surat, Gujarat, India
यात्रियों ने ढाई घंटे रोकी सूरत-विरार पैसेंजर ट्रेन

सूरत रेलवे स्टेशन पर मंगलवार शाम सूरत-विरार पैसेंजर के यात्रियों ने इस ट्रेन को मेमू में परिवर्तित किए जाने का विरोध किया और करीब ढाई घंटे तक ट्रेन को

सूरत।सूरत रेलवे स्टेशन पर मंगलवार शाम सूरत-विरार पैसेंजर के यात्रियों ने इस ट्रेन को मेमू में परिवर्तित किए जाने का विरोध किया और करीब ढाई घंटे तक ट्रेन को रोके रखा। काफी संख्या में महिलाओं द्वारा प्रदर्शन किए जाने के कारण रेलवे ने मदद के लिए सिटी पुलिस को बुलाया। महिधरपुरा और वराछा थाने से आई महिला पुलिसकर्मियों ने प्रदर्शन करने वालों को समझा-बुझा कर ट्रेन रवाना करवाई।

पश्चिम रेलवे ने सूरत से विरार, सूरत से भरुच, भरुच से विरार के बीच चलने वाली करीब चार पैसेंजर ट्रेनों को मेमू में परिवर्तित करने का निर्णय किया है। दस अक्टूबर से ५९०४८ सूरत-विरार पैसेंजर का नया नम्बर ६९१४० हो गया है। मंगलवार शाम को यह ट्रेन ६.२० बजे रवाना होने वाली थी, लेकिन इसके यात्रियों ने पैसेंजर ट्रेन को मेमू में परिवर्तित करने का विरोध शुरू कर दिया। सूरत स्टेशन के प्लेटफॉर्म संख्या तीन पर महिला कोच के सामने यात्रियों की भीड़ जमा हो गई।

यात्रियों को समझाने के लिए ऑन ड्यूटी स्टेशन मास्टर तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने प्रयास किया, लेकिन यात्री रैक बदलकर पुरानी रैक चलाने पर अडिग रहे। काफी देर तक बातचीत के बाद भी कोई रास्ता नहीं निकला तो रेलवे पुलिस ने सिटी पुलिस को स्टेशन बुला लिया। महिला यात्रियों ने मेमू कोच में शौचालय की सुविधा नहीं होने तथा कम जगह होने के कारण विरोध प्रदर्शन किया। रेलवे सुरक्षा बल और रेलवे पुलिस के जवानों के साथ महिधरपुरा और वराछा थाने से आई सौ-सवा सौ महिला पुलिसकर्मियों ने भीड़ को शांत करवाया। सूरत-विरार पैसेंजर को करीब ८.५७ बजे रवाना किया गया।

पैसेंजर ट्रेनों की रैक से होलीडे स्पेशल

सूत्रों ने बताया कि रेलवे ने दीपावली अवकाश में अधिक कमाई के लिए अलग-अलग जगहों के लिए होलीडे स्पेशल ट्रेन चलाई हैं, लेकिन यह स्पेशल ट्रेन रेग्यूलर ट्रेनों से कोच घटाकर तथा पैसेंजर ट्रेनों की रैक से तैयार की गई हैं। प्रदर्शन करने वाले यात्रियों ने पुरानी रैक लगाने की मांग करते हुए ढाई घंटे तक ट्रेन को रोके रखा, लेकिन पुरानी रैक कब लगेगी, रेलवे के पास इसका जवाब नहीं था। आगामी दिनों में फिर पैसेंजर ट्रेनों को मेमू में परिवर्तित करने पर विरोध की आशंका है।

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned