सूरत में होमियोपैथी डॉक्टर की संदिग्ध मौत

- पोस्टमार्टम में नहीं मिला मौत का कारण

- शव से नमूने लेकर लैब में जांच के लिए भेजे

By: Sanjeev Kumar Singh

Published: 07 Sep 2020, 10:52 PM IST

सूरत.

यूनिकेयर अस्पताल में कार्यरत होमियोपैथी डॉक्टर की शनिवार रात को संदिग्ध अवस्था में मृत्यु हो गई। सुबह स्टाफ उनको नींद से उठाने गया तो कोई जवाब नहीं मिला। बाद में चिकित्सकों ने जांच की तो उन्हें मृत घोषित कर दिया। खटोदरा पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए न्यू सिविल अस्पताल ले आई।

पुलिस के मुताबिक, पुणा सिमाडा रोड योगी चौक कृष्णा रो हाउस निवासी जिग्नेश खोडा गुजराती (36) यूनिकेयर अस्पताल में नौकरी करते थे। शनिवार को जिग्नेश की ड्यूटी हॉस्पिटल के दूसरी मंजिल पर पीपीसी वार्ड में थी। रविवार सुबह स्टाफ उनको उठाने गए तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। घटना की जानकारी दूसरे सीनियर स्टाफ को दी गई। चिकित्सकों ने वार्ड में आकर जिग्नेश की जांच की और मृत घोषित कर दिया।
पुलिस ने बताया कि जिग्नेश होमियोपैथी डॉक्टर थे। ड्यूटी पर आने के बाद उन्होंने देर रात को नाश्ता किया था। इसके बाद उनको एसिडिटी जैसा महसूस हुआ। उन्होंने कोई दवा ली और फिर आराम करने चले गए। इसके बाद वह नींद से नहीं उठे। परिजनों ने पोस्टमार्टम से मौत का सच सामने लाने की गुहार लगाई है।

परिजनों ने बताया कि उनको कोई बीमारी नहीं थी और न ही उनको पिछले 1दिनों बुखार या कोई दूसरी तकलीफ हुई थी। जिग्नेश मूल रूप से भावनगर जिले के उमराडा तहसील के धड़वाडा गांव के निवासी थे। उनको दो पुत्र व एक पुत्री हैं। न्यू सिविल अस्पताल में चिकित्सकों ने शव का पोस्टमार्टम किया, लेकिन मौत का कारण स्पष्ट नहीं हुआ बताया गया है। चिकित्सकों ने शव से नमूने लेकर फोरेन्सिक लैब में जांच के लिए भेजे हैं। खटोदरा पुलिस अकस्मात मौत का मामला दर्ज कर जांच कर रही हैं।

Sanjeev Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned