सूरत में भी दिख सकता है तबलीगी मरकज इफेक्ट

सूरत से 76 लोग गए थे दिल्ली, चिन्हित करने के लिए टीम गठित, सभी को 14 दिनों के लिए किया जाएगा क्वारन्टाइन, उनकी शिनाख्त में लोगों से सहयोग की अपील

By: विनीत शर्मा

Published: 31 Mar 2020, 08:19 PM IST

सूरत. दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में तबलीगी जमात के मरकज में सूरत से 76 लोगों के शामिल होने की जानकारी सामने आने के बाद से स्थानीय प्रशासन में हड़कंप की स्थिति है। मनपा प्रशासन ने ऐसे सभी लोगों को चिन्हित करने की कवायद शुरू कर दी है, जो मरकज में शामिल हुए थे। इसके लिए विशेष दस्ता गठित करने के साथ ही आमजन से भी उनकी शिनाख्त में सहयोग की अपील की है। आयुक्त ने साफ किया कि मरकज में शामिल हुए सभी लोगों को शिनाख्त के बाद 14 दिनों के लिए क्वारन्टाइन किया जाएगा।

दिल्ली के निजामुददीन में तबलीगी मरकज इन दिनों कोरोना वायरस को लेकर चर्चा में है। देश-दुनिया से डेढ़ हजार से ज्यादा लोग इस मरकज में शामिल हुए थे। इनमें ७६ लोगों के सूरत से जाने की चर्चा है। मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक निजामुद्दीन क्षेत्र में जमात का मुख्यालय कोरोना वायरस के बड़े कैरियर के रूप में उभरा है। इसमें शामिल हुए लोगों में अभी तक 24 में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है, जबकि 200 लोग संदिग्ध माने जा रहे हैं।

मरकज में सूरत से भी 76 लोगों के शामिल होने की सूचना के बाद से मनपा प्रशासन सकते में है। इस अहम जानकारी के सामने आने के बाद मनपा प्रशासन ने आपात बैठक कर मरकज में गए लोगों के बारे में सूचनाएं जुटाने की कवायद शुरू कर दी है। मनपा आयुक्त बंछानिधि पाणि ने बताया कि ऐसे लोगों को चिन्हित करने के लिए विशेष दस्ता गठित किया गया है। साथ ही उन्होंने लोगों से भी सहयोग कर उनकी शिनाख्त में मदद करने की अपील की है। आयुक्त ने साफ किया कि मरकज में गए लोगों की शहर में मौजूदगी और उनके खुले घूमने से कोरोना के सामुदायिक प्रसार की आशंकाओं को बल मिलेगा। इन लोगों की जल्द शिनाख्त नहीं की गई तो यह संक्रमण दूसरे लोगों में भी फैल सकता है। इसे रोकने के लिए उनकी पहचान होना जरूरी है। आयुक्त ने साफ किया कि शिनाख्त के बाद सभी लोगों को १४ दिनों के लिए क्वारंटाइन किया जाएगा।

Corona virus
Show More
विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned