तक्षशिला अग्निकांड : एसीबी ने की दो वरिष्ठ अधिकारियों की नियुक्ति

तक्षशिला अग्निकांड : एसीबी ने की दो वरिष्ठ अधिकारियों की नियुक्ति

Dinesh M.Trivedi | Updated: 12 Jun 2019, 10:05:23 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India


- मनपा के तीन प्रथमश्रेणी अधिकारियों के खिलाफ करेंगे भ्रष्टाचार की जांच

सूरत. तक्षशिला अग्निकांड के बाद मनपा अधिकारियों और दमकल अधिकारियों के खिलाफ भ्रष्टाचार को लेकर शुरू की गई जांच के लिए भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने उप अधीक्षक स्तर के दो वरिष्ठ अधिकारियों की नियुक्ति की है।


ब्यूरो सूत्रों के मुताबिक तक्षशिला अग्निकांड के पीछे भ्रष्टाचार की आशंका के चलते इमारत के निर्माण से लेकर रखरखाव की प्रक्रिया में जिम्मेदार रहे सभी अधिकारियों के खिलाफ जांच शुरू की गई थी। इसमें तीन प्रथमश्रेणी अधिकारी उप आयुक्त केतन पटेल, एग्जीक्यूटिव इंजीनियर पीडी मुंशी व जेआर सोलंकी शामिल हैं। नियमानुसार एसीबी ने इन तीनों के खिलाफ जांच के लिए मनपा आयुक्त एस.थेनारसन से अनुमति ले ली है।

उनके खिलाफ जांच के लिए अहमदाबाद एसीबी के क्षेत्रीय निदेशक एनडी चौहाण व सूरत एसीबी के क्षेत्रीय निदेशक नीरव गोहिल को नियुक्त किया गया है। इसके अलावा अन्य अधिकारियों के खिलाफ जांच स्थानीय निरीक्षक स्तर के अधिकारियों द्वारा की जा रही है। एसीबी द्वारा इन अधिकारियों की संपत्ति का आंकलन किया जा रहा है। ज्ञात स्रोतों से अधिक संपत्ति पाए जाने पर इनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।


गौरतलब है कि सभी स्तरों पर हुई जानलेवा लापरवाही के चलते सरथाणा क्षेत्र के तक्षशिला आर्केड में भीषण आग लगी थी। इसमें एक मासूम बच्ची समेत २२ युवा छात्र छात्राओं की मौत हो गई थी। इस मामले की जांच में क्राइम ब्रांच ने अब तक ट्यूशन, आर्केड के मालिक, बिल्डर, दमकल अधिकारी, मनपा व डीजीवीसीएल के इंजीनियरों समेत नौ जनों को गिरफ्तार किया है। परमार के साथ इस मामले में अब तक कुल दस आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned