तक्षशिला अग्निकांड : मनपा के चार अधिकारियों को समन

तक्षशिला अग्निकांड : मनपा के चार अधिकारियों को समन

Dinesh M.Trivedi | Updated: 04 Jun 2019, 12:51:59 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India


एक से पूछताछ, तीन से आज होगी

सूरत. तक्षशिला अग्निकांड के मामले में क्राइम ब्रांच ने सोमवार को मनपा के चार अधिकारियों को पूछताछ के लिए समन जारी किए। इनमें से एक से पूछताछ हुई। शेष तीन से मंगलवार को पूछताछ हो सकती है।
क्राइम ब्रांच के सूत्रों का कहना है कि तक्षशिला अग्निकांड के पीछे मनपा अधिकारियों के भ्रष्टाचार की आशंका को लेकर क्राइम ब्रांच की जांच जारी है। क्राइम ब्रांच ने इस मामले में मनपा अधिकारी देवेश गोहिल, केतन पटेल, एन.वी.उपाध्याय और चीफ फायर ऑफीसर वसंत पारीख समेत अन्य अधिकारियों से पूछताछ की थी। उसके बाद दमकल अधिकारी एस.के.आचार्य और कीर्ति मोढ़ को गिरफ्तार किया गया था। सोमवार को क्राइम ब्रांच ने मनपा अधिकारी जयेश सोलंकी, वराछा जोन के तत्कालीन प्रमुख डी.सी. गांधी, वी.के. परमार और पी.डी. मुंशी को सीआरपीसी की धारा १६० के तहत पूछताछ के लिए समन जारी किए। इनमें से जयेश सोलंकी के सोमवार शाम क्राइम ब्रांच पहुंचने पर जांच अधिकारी सहायक पुलिस आयुक्त आर.आर. सरवैया ने उनसे पूछताछ की तथा उनका बयान दर्ज किया। शेष अधिकारियों से मंगलवार को पूछताछ हो सकती है।
सूत्रों का कहना है कि फोरेंसिक जांच रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि तक्षशिला आर्केड में आग दूसरी मंजिल पर एयर कंडीशनर में शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी। फोरेन्सिक रिपोर्ट में सामने आए तथ्यों के आधार पर क्राइम ब्रांच ने इस पर ध्यान केन्द्रीत किया है कि शॉर्ट सर्किट किसकी लापरवाही से हुआ था। सूत्रों का कहना है कि क्राइम ब्रांच दक्षिण गुजरात विज कंपनी की भूमिका की भी जांच कर सकती है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned