तहसीलों में जलसंकाय के 20 कार्यों को पूर्ण करने का लक्ष्य

सरकार की ओर से आगामी मई माह से प्रदेश भर में जल बचाओ अभियान शुरू किया जाएगा। तापी जिले में आयोजित कार्यक्रमों को लेकर प्रदेश...

By: मुकेश शर्मा

Published: 25 Apr 2018, 10:48 PM IST

बारडोली।सरकार की ओर से आगामी मई माह से प्रदेश भर में जल बचाओ अभियान शुरू किया जाएगा। तापी जिले में आयोजित कार्यक्रमों को लेकर प्रदेश के आदिजाति विकास, वन एवं पर्यावरण मंत्री गणपत वसावा की अध्यक्षता में अधिकारियों की कलक्ट्रेट सभागार में बैठक हुई। बैठक में मंत्री ने सभी तहसीलों में कम से कम जलसंचय से जुड़े 20 कार्यों को पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया है।
बैठक में मंत्री ने जिले में होने वाले 1173.13 लाख के जलसंचय के कार्यों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार जल समस्या को लेकर गंभीर है। आगामी दिनों पानी की किल्लत न हो इसके लिए सरकार की ओर से विशेष आयोजन किया जा रहा है। जिसमें प्रशासन के साथ स्वैच्छिक संस्था के सहयोग और जन भागीदारी से मई माह में जल संचय से जुड़े कार्य किए जाएंगे। मंत्री ने सभी तहसीलों में कम से कम जलसंचय से जुड़े 20 कार्यों को पूर्ण करने का आदेश दिया। जल बचाओ अभियान के तहत चेकडैम की मरम्मत, तालाब और जलाशयों की सफाई, कुआं गहरीकरण, पाइपलाइन की मरम्मत, वन तलावड़ी जैसे कार्य के लिए अधिकारियों को आदेश किया। इस अवसर पर वेर-2 योजना विभाग के प्रभारी अभियंता मुम्बईकर ने योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

पेयजल समस्या शीघ्र करें समाधान: कलक्टर

तापी जिले की संकलन बैठक में जिला कलक्टर ने सभी अधिकारियों को निष्पक्ष, न्यायिक और जनहित का कार्य शीघ्र पूरा करने का आदेश किया। उन्होंने कहा कि लोगों के समस्या के निस्तारण में किसी अधिकारी की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

तापी जिला मुख्यालय व्यारा स्थित कलक्टर कार्यालय के सभागार में आयोजित बैठक में कलक्टर एन.के. डामोर ने मुख्यमंत्री की ओर से दी गई सूचना की जानकारी देते हुए कहा कि जिले के किसी भी गांव में पेयजल की शिकायत मिले तो उसे 24 घंटे के अंदर इसका निस्तारण कर रिपोर्ट करे। जिस क्षेत्र में टैंकर के जरिए जलापूर्ति किया जाता है, वहां जरूरत के हिसाब से ज्यादा टैंकर का प्रावधान करने, बंद पड़े हैंडपम्प और मोटर का तुरंत मरम्मत की जाए।

 

उन्होंने विकास कार्यों और सामाजिक सुरक्षा की योजनाओं का समय पर निरीक्षण करने की सूचना दी। व्यारा विधायक पुनाजी गामित और निझर के विधायक सुनील गामित ने सिंचाई, पेयजल सहित अन्य समस्याओं के बारे में शिकायत की। कलक्टर ने अधिकारियों से इन समस्याओं को शीघ्र हल कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने का आदेश दिया।

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned