छह साल में कारोबार 20 से बढ़ाकर 50 अरब अमरीकी डालर करने का लक्ष्य

इंडोनेशिया में हैं कारोबार के अवसर, इंडोनेशिया के भारत में कांसुलेट जनरल ने दिया प्रजेंटेशन

By: विनीत शर्मा

Published: 10 Jan 2021, 08:18 PM IST

सूरत. इंडोनेशिया के प्रतिनिधि के साथ हुए इंटरैक्टिव सेशन में इंडोनेशिया में व्यापार के अवसरों पर चर्चा की गई। इंडोनेशिया के भारत में कांसुलेट जनरल आगुस प्रिहातिनो साप्तनो ने भारत और इंडोनेशिया के बीच व्यापारिक संबंधों की मजबूती पर बल दिया।

दक्षिण गुजरात चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ने सूरत के नानपुरा स्थित समृद्धि भवन में 'इंडोनेशिया में व्यापार के अवसर' विषय पर इंटरैक्टिव सेशन का आयोजन किया। इंडोनेशिया के भारत में कांसुलेट जनरल आगुस प्रिहातिनो साप्तनो ने इंडोनेशिया में विभिन्न क्षेत्रों में व्यापार के अवसरों की जानकारी साझा की। उन्होंने कहा कि इंडोनेशिया और भारत के बीच 20 अरब डॉलर का कारोबार होता है। हमारा लक्ष्य अगले छह वर्षों में इसे बढ़ाकर 50 अरब अमेरिकी डॉलर करना है। भारत और इंडोनेशिया के बीच व्यापारिक संबंधों को और बेहतर बनाने के लिए इंडोनेशिया हमेशा तैयार है।

उन्होंने उद्यमियों के प्रतिनिधिमंडल को इंडोनेशिया आने का न्योता दिया। उन्होंने कहा कि इंडोनेशिया में केमिकल, डायमंड, गारमेंट, जेम एंड ज्वैलरी, इंफ्रास्ट्रक्चर और टेक्सटाइल इंडस्ट्रीज, खासकर टेक्सटाइल और टेक्सटाइल मशीनरी के क्षेत्र में व्यापक अवसर हैं। इसके अलावा इंडोनेशियाई सरकार रक्षा, तटीय सुरक्षा और सूचना प्रौद्योगिकी में भी कई वाणिज्यिक अवसरों की तलाश कर रही है। उन्होंने सूरत के उद्यमियों से इन क्षेत्रों में भी निवेश करने का आग्रह किया। इस अवसर पर चैम्बर के मानद मंत्री निखिल मदरासी, ग्रुप चेयरमैन अमीश शाह, चैंबर के अंतरराष्ट्रीय व्यापार मंडल एवं वाणिज्य दूतावास संपर्क समिति के सह अध्यक्ष हर्षल भगत समेत अन्य गणमान्य मौजूद रहे।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned