बंद मकान में श्रमिक का शव बरामद

फोरेन्सिक पोस्टमार्टम में सिर में चोट लगने से मौत की आशंका

By: Sanjeev Kumar Singh

Published: 15 Nov 2018, 12:52 PM IST

सूरत.

सगरामपुरा क्षेत्र में मलेकवाड़ी विस्तार के बंद मकान से एक श्रमिक विजय केशव बारैया (50) का शव बरामद हुआ है। फोरेन्सिक पोस्टमार्टम में सिर में चोट लगने से मौत की आशंका जताई गई है। बुधवार सुबह मकान से दुर्गन्ध आने पर लोगों ने पुलिस को जानकारी दी। अठवा पुलिस शव पोस्टमार्टम के लिए न्यू सिविल अस्पताल ले आई। पुलिस ने बताया कि विजय अविवाहित था और वह शराब का आदी था। अठवा पुलिस मामले की जांच कर रही है।

 

हादसे में जान गई

सूरत. वेडछा पाटिया के नजदीक बुधवार को एक टैम्पो ने बाइक सवार दो जनों को चपेट में ले लिया, जिससे एक व्यक्ति की मौत हो गई। दूसरे को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मृतक का नाम वरेली गांव सांई रेजिडेंसी निवासी कालिका प्रसाद राम तिवारी (३८) बताया गया है। वह रिंगरोड के कपड़ा बाजार में साड़ी पैकिंग का कार्य करता था। बुधवार सुबह वह भतीजे राम के साथ मोटर साइकिल पर वेडछा पाटिया के पास से गुजर रहा था। एक टैम्पो ने मोटर साइकिल को टक्कर मार दी। कालिका प्रसाद की मौके पर ही मौत हो गई। घायल राम को स्मीमेर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

 


सीजीएसटी के अफसर की कार बीआरटीएस में घुसी, लोगों ने मचाया हंगामा, जीएसटी के खिलाफ गुस्सा भी निकाला

सूरत. सेंट्रल जीएसटी विभाग के एक अधिकारी की कार बुधवार को बीआरटीएस में प्रवेश करने के बाद फंस गई। लोगों ने कार को घेरकर अधिकारी को नियम बताते हुए आड़े हाथों लिया और जीएसटी के प्रति अपनी भड़ास भी निकाली। इसका वीडियो वायरल हो गया।


वीडियो में जीएसटी विभाग के अधिकारी की कार (जीजे - 05 जेसी 6772) भटार से जमनागर के बीआरटीएस रूट से जाती नजर आ रही है। जमनानगर में बीआरटीएएस स्टेशन के पास गेट खुला नहीं होने के कारण कार रुक गई। बाद में कुछ लोग कार के पास आए और जीएसटी अधिकारी को नियम का पालन करने की हिदायत देने लगे। साथ ही जीएसटी के खिलाफ भी उन्होंने अपना गुस्सा निकाला। बताया जा रहा है कि कार में जीएसटी अधिकारी डॉ.मोहन मीणा थे।

 

वीडियो में मीणा एक आदमी को गलती से बीआरटीएस रूट में गाड़ी आने की बात कहते हुए गाड़ी वापस मोड़ते नजर आ रहे हैं, लेकिन पीछे बीआरटीएस की बसें होने के कारण वह आगे नहीं जा सके। अंत में अधिकारी और ड्राइवर गाड़ी छोड़कर चले गए। कुछ ही देर में वहां लोगों की भीड़ जमा हो गई और पुलिस भी पहुंच गई। पुलिस ने गाड़ी को वहां से बाहर निकाला। जीएसटी विभाग के अधिकारी मोहन मीणा ने बताया कि उनकी गाड़ी ड्राइवर की गलती के कारण बीआरटीएस रूट में चली गई थी।

Sanjeev Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned