एम्ब्रॉयडरी कारखानेदार एसोसिएशन ने लिखित में मांगीं श्रमिकों की मांगें

एम्ब्रॉयडरी कारखानेदार एसोसिएशन ने लिखित में मांगीं श्रमिकों की मांगें

Sandip Kumar N Pateel | Publish: Sep, 11 2018 09:19:58 PM (IST) Surat, Gujarat, India

पुलिस आयुक्त की अध्यक्षता में कारखानेदारों और श्रमिक यूनियन की बैठक

सूरत. एम्ब्रॉयडरी कारखानों में सवेतन रविवार को छुट्टी की मांग को लेकर कारखानेदारों और श्रमिकों के बीच जारी विवाद के बीच मंगलवार को दोनों पक्षों के प्रतिनिधियों की पुलिस आयुक्त की अध्यक्षता में बैठक हुई। श्रमिकों की ओर से उनकी यूनियन ने अब हंगामा या उपद्रव नहीं मचाने का आश्वासन दिया तो कारखानेदारों की एसोसिएशिन के पदाधिकारियों ने सकारात्मक रुख दिखाते हुए श्रमिकों की मांगें लिखित में देने को कहा।

 


एम्ब्रॉयडरी कारखानों में काम करने वाले श्रमिक लंबे समय से रविवार को वेतन के साथ छुट्टी की मांग कर रहे हैं। बीती 2 और 9 सितम्बर को श्रमिकों ने पूणा, आंजणा, खटोदरा, भाठेना, पांडेसरा, वेडरोड, अमरोली क्षेत्र में कारखानों पर पथराव तथा तोडफ़ोड़ कर उपद्रव मचाया था। पुलिस ने सैकड़ों कारीगरों के खिलाफ उपद्रव मचाने का मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। श्रमिकों के उपद्रव से कारखानेदारों में भय फैल गया था तो पुलिस प्रशासन भी चिंतित था। आखिर दोनों पक्षों के बीच समझौते के लिए पहल की गई और मंगलवार को पुलिस आयुक्त सतीश शर्मा की अगुवाई में श्रमिकों की यूनियन के लीडर्स तथा एम्ब्रॉयडरी कारखानेदारों के एसोसिएशन के पदाधिकारियों के बीच बैठक हुई। बैठक में श्रमिकों की अलग-अलग नौ यूनियन के लीडर्स ने उपद्रव नहीं मचाने का आश्वासन दिया। कारखानेदारों की एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने यूनियन लीडर्स से उनकी मांगें लिखित में देने को कहा और भरोसा दिया कि मांगों पर चर्चा कर जल्द फैसला किया जाएगा।

 


यह हैं श्रमिकों की मांगें


बैठक में यूनियन लीडर्स की ओर से 6 मांगें रखी गईं। इनके मुताबिक फैक्ट्रियों में श्रम कानून का पालन किया जाए, श्रमिकों को महीने में चार दिन की छुट्टी दी जाए और छुट्टी के दिन काम पर दुगना वेतन चुकाया जाए, एम्ब्रॉयडरी कारखानों के श्रमिकों को रविवार को छुट्टी दी जाए, कारखानों में आठ-आठ घंटे की शिफ्ट की जाए और इससे अधिक समय श्रमिकों से काम करवाने पर ओवर टाइम चुकाया जाए, श्रमिकों को इएसआइ, पीएफ, वेतन स्लिप, बोनस का लाभ दिया जाए, किसी भी श्रमिक से छुट्टी के दिन जबरन काम नहीं करवाया जाए।


बैठक में यूनियन के प्रतिनिधियों की ओर से उपद्रव नहीं करने का आश्वासन दिया गया है। हमने यूनियनों से उनकी मांगें लिखित में देने को कहा है। इन पर चर्चा के बाद निर्णय किया जाएगा।


दिनेश अणधण, प्रमुख, साउथ गुजरात एम्ब्रॉयडरी एसोसिएशन


बैठक में हमने मांगे बता दी हैं। पुलिस आयुक्त, कलक्टर, श्रम विभाग और एसोसिशएंस को सभी मांगें लिखित में भी भेजी जाएंगी।


शान खान, महामंत्री, इंटुक

Ad Block is Banned