मनमुटाव से अलग हुए परिवार कुछ इस तरह दोबारा मिले...

मनमुटाव से अलग हुए परिवार कुछ इस तरह दोबारा मिले...

Sandip Kumar N Pateel | Publish: Sep, 08 2018 10:14:19 PM (IST) Surat, Gujarat, India

लोक अदालत में हुआ समझौता

सूरत. मनमुटाव के कारण अलग हुए माता-पुत्र और दम्पती शनिवार को आयोजित लोक अदालत के जरिए समझौता कर दोबारा एक हो गए। उन्होंने अपनी याचिकाएं वापस लेते हुए दोबारा साथ रहने का निर्णय किया।


सूरत जिला न्यायालय में शनिवार को आयोजित लोक अदालत में घरेलू हिंसा संबंधित मामलों को रखा गया था। उधना निवासी जया राणा ने अधिवक्ता प्रीति जोशी के जरिए पुत्र और बहुओं के खिलाफ घरेलू हिंसा अधिनियम के तहत कोर्ट में शिकायत की गई थी। आरोप के मुताबिक पुत्र और बहुएं उसे प्रताडि़त करती थीं और उसका भरण पोषण करने के लिए कोई तैयार नहीं था। इस मामले को शनिवार को लोक अदालत में रखा गया और दोनों पक्षों के अधिवक्ताओं की पहल से माता-पुत्रों के बीच समझौता हुआ। पुत्रोंं ने मां की देखभाल और भरण पोषण करने की हामी भरी। इसके बाद मां ने अपनी याचिका वापस ले ली।


अन्य एक मामले में वर्ष 2016 में सूरत की युवती की शादी वड़ोदरा के युवक के साथ हुई थी, लेकिन शादी के कुछ समय बाद ही दोनों के बीच मनमुटाव शुरू हो गया और विवाहिता पीहर रहने चली आई। इसके बाद उसने अधिवक्ता प्रीति जोशी के जरिए पति के खिलाफ कोर्ट में घरेलू हिंसा और भरण-पोषण की मांग के साथ याचिकाएं दायर की थी। हालांकि विवाहिता गर्भवती थी। इसी कारण से दोनों पक्षों के अधिवक्ताओं ने दम्पती को बच्चे के भविष्य को ध्यान में रखते हुए दोबारा साथ आने के लिए समझाया और उनके प्रयास रंग लाए। दम्पती सब कुछ भूल कर दोबारा साथ रहने को राजी हो गया। शनिवार को लोक अदालत में पत्नी ने पति की खिलाफ की याचिकाएं वापस ले ली और पति के साथ जाने का निर्णय किया।

 

हार्डवेयर कारोबारियों से १६ लाख की धोखाधड़ी


सूरत. तीन हार्डवेयर कारोबारियों के साथ १६ लाख रुपए की धोखाधड़ी के आरोप में खटोदरा पुलिस ने दो जनों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस के मुताबिक सचिन अभिषेक सिटी होम्स निवासी उमेश विश्वकर्मा तथा अडाजण कृति अपार्टमेंट निवासी तुषार ठक्कर ने मिलकर डिंडोली सांई दर्शन सोसायटी निवासी रामदयाल शर्मा व दो अन्य कारोबारियों भरत टेलर तथा आशीष पामवाला के साथ धोखाधड़ी की। सितम्बर-अक्टूबर २०१७ में उन्होंने रामदयाल की जेपी प्लाई एण्ड हार्डवेयर से ४ लाख, ८ हजार रुपए इसी तरह से भरत की जलाराम प्लाई से १२ लाख रुपए व आशीष की रणछोड़ इंटरप्राइज से ५७ हजार रुपए का सामान उधार लिया, लेकिन उसका भुगतान नहीं किया। उन्होंने समय-समय पर दिए चैक बैंक से रिटर्न हो गए। इस पर राजस्थान के बीकानेर जिले के महादेववाली निवासी रामदयाल ने दोनों के खिलाफ शुक्रवार रात खटोदरा थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाई।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned