पहले ही लग गई एसीबी ट्रैप की भनक

शिकायतकर्ता की कार को टक्कर मार कर भाग गया रिश्वत लेने आया वन अधिकारी

By: विनीत शर्मा

Published: 28 Jan 2021, 08:23 PM IST

बारडोली. सूरत जिला की महुवा वन विभाग के आरएफओ और फॉरेस्टर ने लकड़ी के व्यापारी से रिश्वत मांगी थी। व्यापारी की शिकायत पर बुधवार रात को एसीबी की टीम ने जाल बिछाया था। रिश्वत लेने आए फॉरेस्टर को एसीबी की टै्रप की भनक लग गई और वह शिकायतकर्ता की कार को टक्कर मार कर भाग निकला।

सूरत जिला की महुवा तहसील में लकड़ी व्यापारी ने किसान के सागवान काटने के लिए वन विभाग से मंजूरी नहीं ली थी। इसकी जानकारी मिलते ही महुवा वन विभाग का फॉरेस्टर निकुंज राकेश पटेल व्यापारी के पास पहुंचा और उसकी आरा मशीन सील करने की धमकी देकर पांच लाख रुपए की रिश्वत मांगी। बाद में मामला 2 लाख रुपए पर तय हुआ था।

23 जनवरी को फॉरेस्टर ने 50 हजार रुपए रिश्वत ली थी। बाकी के डेढ़ लाख रुपए फॉरेस्टर बार-बार मांग रहा था। व्यापारी रिश्वत देना नहीं चाहता था जिसके कारण उसने एसीबी में शिकायत की थी। एसीबी की टीम ने 25 जनवरी को ट्रैप के लिए जाल बिछाया था, लेकिन उस दिन निकुंज पैसे लेने के लिए नहीं आया था। बाद में बुधवार रात को फिर से निकुंज ने फोन कर घर के बाहर पैसे दे जाने को कहा। उसने बताया कि यह डेढ़ लाख रुपए आरएफओ रिपल सवला चौधरी ने मांगे हैं।

बुधवार को यह रकम लेने के लिए निकुंज बारडोली तहसील के बाबेन गांव की एक सोसाइटी के बाहर पहुंचा था। इसी दौरान निकुंज को एसीबी ट्रैप की भनक लग गई और शिकायतकर्ता की कार को टक्कर मार कर वह भाग निकला। बाद में एसीबी ने निकुंज राजेश पटेल और महुवा आरएफओ रिपल चौधरी के खिलाफ टेक्निकल सबूतों के आधार पर शिकायत दर्ज की।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned