जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी, मोनू और सलमान के ठिकानों पर पड़ताल के लिए टीम मेरठ गई

जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी, मोनू और सलमान के ठिकानों पर पड़ताल के लिए टीम मेरठ गई

Mukesh Kumar Sharma | Publish: Jan, 15 2019 12:08:57 AM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

आरकेटी मार्केट में सुरक्षाकर्मियों और प्रबंधन की कथित मिलीभगत से नकली चाबी का उपयोग कर करोड़ों रुपए के कपड़े की चोरी के मामले की जांच...

सूरत।आरकेटी मार्केट में सुरक्षाकर्मियों और प्रबंधन की कथित मिलीभगत से नकली चाबी का उपयोग कर करोड़ों रुपए के कपड़े की चोरी के मामले की जांच में क्राइम ब्रांच भी जुट गई है।सलाबतपुरा पुलिस की ओर से आरोपितों की गिरफ्तारी में बरती जा रही ढिलाई के कारण व्यापारी इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच से कराने की मांग कर रहे थी। शहर पुलिस आयुक्त सतीष शर्मा ने मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंप दी है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि सुरक्षाकर्मियों समेत चोर गिरोह चुराए गए कपड़े के ताके मेरठ के मूल निवासी मोनू और सलमान के गोदामों तक पहुंचाते थे।

एसएस टैक्स के नाम से कारोबार करने वाले मोनू और सलमान चोरी के ताके मोटी बेगमवाड़ी के पशुपति मार्केट के निकट अपनी दुकान तथा नारायणनगर के गोदाम में छिपा कर रखते थे। वह चुराए गए कपड़े अलग-अलग ट्रांसपोर्टर्स की मार्फत बाजार मूल्य से कम दाम में उत्तरप्रदेश, दिल्ली समेत अन्य राज्यों के व्यापारियों को बेचते थे। सूत्र के मुताबिक मेरठ में भी मोनू की दुकानें है। दोनों चोरी का कपड़ा मेरठ भेज कर वहां के व्यापारियों को बेचते थे। उन्होंने अब तक आरकेटी मार्केट से कितना कपड़ा चुराया और किन लोगों को बेचा, इस बारे में जानकारी जुटाने के लिए क्राइम ब्रांच की एक टीम मेरठ रवाना हो गई है।

करोड़ों रुपए के कपड़े की चोरी के रैकेट में एक दर्जन से अधिक संदिग्धों के नाम सामने आने के बावजूद सलाबतपुरा पुलिस की कार्रवाई को लेकर व्यापारियों में जबरदस्त आक्रोश है। उनका कहना है कि कई आरोपितों के चोरी करते हुए सीसीटीवी फुटेज पुलिस को मिले हैं, लेकिन उन्हें गिरफ्तार कर पूरे रैकेट का भंडाफोड़ नहीं किया जा रहा है। इन्हें मार्केट के किन कर्ता-धर्ताओं की शह थी, इस बारे में भी खुलासा नहीं किया जा रहा है। व्यापारियों ने कहा कि पुलिस का पूरा फोकस व्यापारियों को शांत कर दुकानें खुलवाने पर है, ताकि मामला ठंडा हो जाए, लेकिन यह मामला तब तक शांत नहीं होगा, जब तक पूरे रैकेट का पर्दाफाश नहीं हो जाता।

सलाबतपुरा पुलिस ने चोरी करने वाले गिरोह के खिलाफ 24 लाख रुपए के कपड़े की चोरी के दो अलग-अलग मामले दर्ज करने के बाद गुरुवार रात एक और प्राथमिकी दर्ज की थी। पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार आरोपित रामू और फुटेज में नजर आ रहे उसके सात साथियों ने पिछले दो महीने में छुट्टियों के दौरान पांच दुकानों में नकली चाबी से प्रवेश कर 16 लाख 95 हजार रुपए का कपड़ा चुराया था। इस संबंध में ट्वीशा फैशन नाम की दुकान के व्यापारी हरीश मनकानी ने गुरुवार रात प्राथमिकी दर्ज करवाई।

अन्य व्यापारियों से पुलिस को लिखित शिकायतें मिली हैं, जिनकी पड़ताल की जा रही है। सूत्रों का कहना है कि पकड़े गए रामू से पूछताछ में पता चला है कि वह विनोद उर्फ राका नाम के व्यक्ति के संपर्क में था। पिछले छह महीने के दौरान वह कई बार उससे मिलने आया था। उसने रामू को बीस लाख रुपए दिए थे।
फुटेज की जांच

सूत्रों का कहना है कि पुलिस ने मोनू और सलमान के नारायणनगर के गोदाम तथा एमएस टैक्स दुकान के सीसीटीवी कैमरों का डीवीआर जब्त किया है। पुलिस इन दोनों ठिकानों के अगल-बगल लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज की भी जांच कर रही है, ताकि यह पता लगाया जा सके कि उनके यहां कितना माल आता-जाता था। पुलिस वहां आने वाले लोगों के साथ टैम्पो नम्बर की जानकारी हासिल कर उनके चालकों का पता लगाने में भी जुटी है। वहां आने-जाने वाले लोगों से पूछताछ की जा रही है।

रणनीति तय करने के लिए आज मीटिंग

राधाकृष्ण टैक्सटाइल मार्केट में करोड़ों रुपए की चोरी के मामले में पुलिस जांच और मंगलवार को मार्केट खुलेगा या नहीं, इस पर विचार करने के लिए फोस्टा तथा राधाकृष्ण टैक्सटाइल मार्केट के व्यापारियों की सोमवार को मीटिंग बुलाई गई है। न्यू टैक्सटाइल मार्केट के बोर्ड रूम में दोपहर 11 बजे होने वाली मीटिंग में फोस्टा के सदस्य तथा राधाकृष्ण टैक्सटाइल मार्केट के अग्रणी व्यापारी भाग लेंगे। फोस्टा के मनोज अग्रवाल ने बताया कि चोरी के मामले को लेकर व्यापारियों में नाराजगी है। कई व्यापारी मंगलवार को दुकानें बंद रखने की मांग कर रहे हैं। इस पर चर्चा के लिए सोमवार को मीटिंग बुलाई गई है।

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned