चंपारन से सूरत जाली नोटों की खेप भेजने वाला गिरफ्तार


- सात साल से था फरार, एसओजी ने पकड़ा
- Was absconding for seven years, SOG caught

By: Dinesh M Trivedi

Published: 03 Apr 2021, 11:30 AM IST

सूरत. बिहार के पूर्वी चंपारन से जाली नोटों की खेप सूरत भेजने के मामले में सात साल से फरार चल रहे आरोपी को आखिरकार स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उसे सूरत लाकर पूछताछ की जा रही है। एसओजी पुलिस के मुताबिक, 2014 में शहर डिंडोली इलाके में पुलिस ने दो महिलाओं समेत चार जन सुरेन्द्र महतो, उसकी पत्नी निर्मला, अच्छेलाल महतो व सबीरा खातून धुनिया को बाजार में जाली नोट भुनाते हुए पकड़ा था।

तलाशी में उनके कब्जे से पुलिस को एक हजार और पांच सौ रुपए दर के कुल साढ़े बत्तीस हजार रुपए के जाली नोट बरामद हुए थे। पूछताछ में उन्होंने बताया था कि बरामद जाली नोट उन्हें बिहार के पूर्वी चंपारन जिले के सूर्यपुर गांव निवासी विनोद सहानी ने कमीशन पर बाजार में भुनाने के लिए दिए थे।

उससे वे जाली नोट लेकर सूरत आए थे। पुलिस ने उस समय विनोद की तलाश में एक टीम बिहार भेजी थी, लेकिन वह नहीं मिला। फरार हो गया था। कुछ समय पूर्व वह बिहार में उसके खिलाफ 2017 में दर्ज हुए शराब तस्करी के मामले में पकड़ा गया था। इस मामले में बिहार पुलिस की कार्रवाई खत्म होने के बाद ट्रांसफर वांरट से उसे हिरासत में लिया गया।

दस साल बाद पकड़ा गया वापी में शराब तस्करी का वांछित

सूरत. दस साल पूर्व वापी टाउन पुलिस द्वारा पकड़ी गई 5.76 लाख की शराब तस्करी के मामले में फरार चल रहे बूटलेगर को एसओजी ने गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक मान दरवाजा निवासी अल्लारख्खा पठान शराब तस्करी में शामिल था। 2010 में वह अपने साथी नाथू अजमेरी के साथ मिल कर एक टेम्पो में शराब की तस्करी करता था। पुलिस से बचने के लिए वे फर्जी नम्बर प्लेट का इस्तेमाल करते थे। मुखबिर के सूचना पर वापी पुलिस ने उन्हें रोकने का प्रयास किया तो दोनों टेम्पो छोड़ कर भाग निकले थे। बाद में पुलिस ने नाथू को तो पकड़ लिया था, लेकिन अल्लारख्खा फरार चल रहा था।

लिम्बायत से भी शराब तस्कर गिरफ्तार


सूरत. एसओजी ने गत वर्ष काकरापार थानाक्षेत्र में हुई शराब तस्करी के मामले में फरार चल रहे आरोपी को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक लिम्बायत चिश्तिया अपार्टमेंट निवासी सालेह शेख उर्फ पप्पू सिलवासा से शराब की तस्करी करता था। सितम्बर 2020 में काकरापार पुलिस ने उसके ट्रक को रोका तो वह ट्रक छोड़ कर फरार हो गया था। पुलिस को ट्रक की तलाशी लेने पर एक लाख रुपए की शराब बरामद हुई थी।

Dinesh M Trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned