बोगस बिलिंग मामले की जांच के लिए पहुंची टीमों को कई ठिकाने बंद मिले

कुछ पते गलत निकले, कुछ स्थानों से दस्तावेज जब्त

By: Pradeep Mishra

Published: 04 Apr 2019, 08:17 PM IST

सूरत

अहमदाबाद और सूरत डीजीजीएसटी की टीमों ने बुधवार को संयुक्त तौर पर सूरत समेत राज्यभर में एक दर्जन से अधिक स्थानों पर सर्च की कार्रवाई की, लेकिन कई जगह ऑफिस बंद थे तो कुछ पते गलत निकले। एक-दो जगह ऑफिस खुले थे। वहां से विभाग ने दस्तावेज जब्त किए हैं।
अहमदाबाद में पिछले दिनों डायरेक्ट्रेट जनरल ऑफ गुड्स एंड सर्विस टैक्स ने सात सौ करोड़ रुपए के बोगस बिलिंग का घोटाला पकड़ा था। जिस व्यापारी के यहां घोटाला पकड़ा गया, उसने फर्जी बिलों के माध्यम से सरकार से इनपुट टैक्स क्रेडिट हासिल किया था। व्यापारी ने जिन लोगों से बिल खरीदे थे, वह सूरत, भरुच, सिलवासा, भावनगर आदि के थे। जांच के लिए डीजीजीएसटी ने इन तमाम स्थानों पर बुधवार को छापे की कार्रवाई की, लेकिन जिन स्थानों पर जांच कार्रवाई की गई, उनमें से ज्यादातर ठिकाने बंद थे। विभाग को एक-दो ठिकाने खुले मिले। अधिकारी वहां से दस्तावेज जब्त कर लौट गए।
जीएसटी के अधिकारियों का मानना है कि व्यापारी ने बोगस बिलिंग का कारोबार करने वाले फर्जी व्यापारियों से बिल खरीद कर सरकार को चपत लगाई है। जिस व्यापारी के यहां घोटाला पकड़ा गया है, विभाग उसी से पूरी रकम वसूल करेगा।

 

Pradeep Mishra Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned