पूरा जिला होगा सीसीटीवी की जद में

वलसाड में बनेगा हैडक्वार्टर, छह शहरों में लगेंगे कैमरे

By: विनीत शर्मा

Published: 17 Mar 2018, 08:57 PM IST

वलसाड. सेफ एण्ड सिक्योर गुजरात के तहत वलसाड जिले को सीसीटीवी की जद में लाने की तैयारी है। इसका हैडक्वार्टर वलसाड में होगा और जिले के छह शहरों में कैमरे लगाए जाएंगे। शहर थाने के पीछे कंट्रोल रूम बनाने की तैयारी चल रही है।

राज्य में बढ़ते अपराधों पर काबू पाने के लिए राज्य सरकार प्रदेशभर में सेफ एण्ड सिक्योर ड्राइव चला रही है। सुरक्षित गुजरात मुहिम के तहत हर जिले में कंट्रोल रूम बनाकर पूरे जिले को सीसीटीवी की जद में लाया जाएगा। इसी क्रम में वलसाड जिले में भी सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने हैं। इसका हैडक्वार्टर वलसाड में बनाया जाएगा।

वलसाड के सिटी थाने के पीछे नया कंट्रोल रूम बनाया जा रहा है। वलसाड समेत जिले के छह शहरों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे जिनका कंट्रोल वलसाड कंट्रोल रूम में रहेगा। सीसीटीवी की जद वाले अन्य शहरों में पारडी, धरमपुर, वापी, उमरगांव और भिलाड शामिल हैं।

तीन शिफ्ट में होगी ड्यूटी

जिला वायलेस अधिकारी दफ्तर के मुताबिक कंट्रोल रूम से २४ घंटे कैमरों पर नजर रहेगी। इसके लिए तैयार किया जा रहा दफ्तर १८००वर्गफीट का रहेगा, जिसमें सभी शहरों के सीसीटीवी की कनेक्टिविटी रहेगी। इन पर २४ गुणा सात नजर रखने के लिए स्टाफ की तीन शिफ्ट में ड्यूटी लगाई जाएगी।

अपराधियों पर रहेगी नजर

अपराध का ग्राफ बढऩे की बड़ी वजह अपराधियों की शिनाख्त नहीं हो पाना है। पहचान के अभाव में अपराधी वारदात को अंजाम देकर साफ बच निकलते हैं। देखा गया है कि जिन जगहों पर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं, पुलिस का अपराधियों तक पहुंचना आसान हुआ है। इस कारण उस क्षेत्र में अपराध का ग्राफ भी कम हुआ है। माना जा रहा है कि छह शहरों में सीसीटीवी कैमरे लगाने से रास्ते पर होने वाले अपराधों की सीधी मॉनिटरिंग हो पाएगी। इससे जहां अपराधियों की शिनाख्त संभव होगी, उन तक पहुंचना भी आसान हो जाएगा।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned