समुद्र में नौका पलटने से तीन छात्राओं की मौत

Vineet Sharma

Publish: Jan, 13 2018 09:21:33 PM (IST)

Surat, Gujarat, India
समुद्र में नौका पलटने से तीन छात्राओं की मौत

समुद्री सैर के दौरान हुआ हादसा, स्थानीय मछुआरों की सतर्कता से 30 छात्राओं को सकुशल बचाया गया

वापी/सूरत. महाराष्ट्र के निकट दहाणु में समुद्री सैर को निकली 33 छात्राओं से भरी नौका पलट जाने से तीन छात्राओं की मौत हो गई। जबकि 30 छात्राओं को मछुआरों ने सही सलामत बचा लिया। यह सभी छात्राएं दहाणु के केएल पोन्डा स्कूल के 12वीं कक्षा की हैं। शनिवार सुबह करीब 11.30 बजे पालघर जिले के दहाणु स्थित परनाका तट पर हुए इस हादसे की सूचना मिलते ही स्थानीय प्रशासन में हड़कंप मच गया।

जानकारी के अनुसार यह स्कूल दहाणु में समुद्र तट से महज दो-तीन सौ मीटर की दूरी पर ही है। अक्सर छात्र-छात्राएं समुद्र किनारे घूमने जाते रहते हैं। सोमवार से स्कूल में प्री-लिम परीक्षाएं शुरू होने वाली थी। इससे पहले शनिवार को सभी ने नौका से समुद्र में घूमने की योजना बनाई थी।

शनिवार को स्कूल से जल्दी छूट जाने के बाद सभी 33 छात्राएं दरिया किनारे पहुंची और वहां चलने वाली एक फेरी बोट में सवार होकर समुद्र की सैर पर निकल गई। बताया गया है कि अंदर करीब दो नोटिकल माइल की दूरी पर अचानक नौका एक तरफ करवट हुई और कोई कुछ समझता उससे पहले ही नौका पलट गई।

बताया गया कि सेल्फी लेने के चक्कर में सभी छात्राएं नौका में एक तरफ आ गई। इसी कारण नाव एक तरफ झुक जाने से पलट गई। जहां हादसा हुआ उससे कुछ दूरी पर दो मछुआरे भी अपनी नौकाओं के साथ थे। उन्होंने हादसा होता देखा तो अपने अन्य साथियों को सूचित किया तथा डूब रही नौका के पास बचाव कार्य करने पहुंच गए।

इधर, सूचना पाकर किनारे से भी नौका लेकर मदद के लिए लोग निकल गए। स्थानीय बोट वालों की मदद से 30 छात्राओं को सकुशल बचा लिया गया। जबकि तीन का अता-पता नहीं चला। इधर छात्राओं से भरी नौका पलटने की सूचना मिलते ही पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए। मामले की गंभीरता को देखते हुए कई एम्बुलेन्स भी किनारे पर पहुंच गई और डॉक्टरों की टीम भी कुछ देर में ही मौके पर पहुंच गई।

कलक्टर की सूचना पर लापता छात्राओं के शव की तलाश के लिए मुंबई से हैलीकॉप्टर भी भेज दिया गया। बचाई गई सभी छात्राओं को किनारे पर डॉक्टरों की टीम ने प्राथमिक उपचार किया। घटना की जानकारी पाते ही स्कूली छात्राओं के अभिभावक समेत काफी संख्या में लोग मौके पर पहुंच गए। तीनों छात्राओं के शव बरामद हो गए हैं। बताया गया है कि दो छात्राओं के शव उसी बोट में फंसे थे जो डूबी थी। कुछ देर बाद तीसरी छात्रा का शव भी बरामद कर लिया गया।

 

मृत छात्राओं के नाम
संस्कृति सुरेश माह्यावंशी - 17 साल
जाह्नवी हरेश सूरती -17 साल
सोनल भगवान सूरती -17 साल

 

कलक्टर ने दिए जांच के आदेश


तीनों छात्राओं के शव मिलने के बाद कलक्टर प्रसाद नारन ने बताया कि हादसे की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि बोटधारक के पास समुद्र में सैर कराने का लाइसेन्स था या नहीं, इसकी भी जांच करवाई जा रही है। उन्होंने पुष्टि करते हुए बताया कि नौका में 33 छात्राएं सवार थी। इनमें से 30 को स्थानीय लोगों की मदद से बचा लिया गया। डूबने वाली तीनों छात्राओं के शव भी बरामद कर लिए गए हैं। कलक्टर के अनुसार स्कूल छूटने के बाद छात्राएं समुद्र में घूमने गई थी। इस बारे में स्कूल में किसी को नहीं बताया था।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned