घर से भागी किशोरी को टिकट चेकिंग स्टाफ ने परिवार से मिलाया

- रेलवे पुलिस ने केस लेने से किया इनकार, सूरत जाकर केस सौंपने की बात कही

By: Sanjeev Kumar Singh

Published: 24 Dec 2020, 12:07 AM IST

सूरत.

उधना रेलवे स्टेशन पर सोमवार सुबह हावड़ा- अहमदाबाद एक्सप्रेस के समय टिकट चेकिंग स्टाफ को एक किशोरी मिली, जो घर से भागकर आई थी। रेलवे सुरक्षा बल की महिला जवान ने उससे पूछताछ की तब किशोरी ने अपनी मां और बड़ी बहन का नम्बर बताया। उधना रेलवे स्टेशन मैनेजर ने पहचान पत्र देखने के बाद किशोरी को माता व बहन को सौंप दिया है। प्रेमी से शादी नहीं होने के कारण किशोरी ने घर छोड़ा था।

सूत्रों के अनुसार, पांडेसरा निवासी सोलह वर्षीय किशोरी सोमवार सुबह 02834 हावड़ा-अहमदाबाद एक्सप्रेस के समय उधना स्टेशन पर घूमते हुए मिली। उधना स्टेशन पर नियुक्त डिप्टी सीटीआई अविनाश द्विवेदी कोरोना रैपिड टेस्ट बूथ पर यात्रियों को लाइन में खड़ा करवा रहे थे। उसी समय किशोरी लाइन में खड़ी न होकर अलग रास्ते से बाहर जा रही थी। तभी अविनाश ने उसे रोका और लाइन में खड़ा होने के लिए कहा। लेकिन किशोरी ने कहा कि वह कहीं से आई नहीं है और स्टेशन के अंदर प्लेटफार्म पर चली गई। अविनाश ने उससे टिकट पूछा तो उसके पास टिकट नहीं मिला। गहन पूछताछ में किशोरी ने कहा कि वह किसी महिला को अपनी बात बताएगी। उसी समय प्लेटफार्म पर तैनात रेलवे सुरक्षा बल की महिला जवान जहान्वी ने किशोरी से पूछताछ की । किशोरी ने उन्हें को बताया कि वह घर से झगड़ा कर भागकर आई है। किशोरी ने अपनी मां और बहन का मोबाइल नम्बर बताया।

रेलवे सुरक्षा बल जवान ने उनसे बातचीत की और उधना स्टेशन बुला लिया। अविनाश और जहान्वी किशोरी को लेकर उधना रेलवे पुलिस चौकी गए थे, लेकिन उन्होंने सूरत रेलवे पुलिस थाने में मामला सौंपने की बात कहते हुए पल्ला झाड़ लिया। इसके बाद अविनाश ने कॉमर्शियल कंट्रोल रूम को घटना की जानकारी दी। कंट्रोल रूम के निर्देश पर वह किशोरी को उधना स्टेशन मैनेजर अनुपम शर्मा के पास लेकर पहुंचे। अनुपम ने किशोरी को समझाया। इसके बाद उन्होंने मां व बहन के पहचान पत्र की जांच की और बाद में किशोरी को उन्हें सौंप दिया।

Sanjeev Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned