व्यापारियों ने बदलाव की जमकर उठाई मांग

एसजीटीटीए की बैठक में 55 टैक्सटाइल मार्केट के प्रतिनिधि रहे मौजूद, फायर सैफ्टी, फोस्टा चुनाव जैसे मुद्दे जोर से उछले

सूरत. कपड़ा बाजार में महानगरपालिका के दमकल दस्ते की दस्तक के बाद कपड़ा व्यापारियों के संगठनों की सक्रियता बढ़ गई है। इसी सिलसिले में साउथ गुजरात टैक्सटाइल ट्रेडर्स एसोसिएशन की बैठक शुक्रवार देर शाम रघुकुल टैक्सटाइल मार्केट के बोर्डरुम में बुलाई गई और इसमें मौजूद कपड़ा बाजार के 55 से ज्यादा टैक्सटाइल मार्केट के प्रतिनिधियों ने फायर सैफ्टी, फोस्टा चुनाव जैसे मुद्दे जमकर उठाए।
बैठक की शुरुआत में एसजीटीटीए के पदाधिकारियों समेत कपड़ा बाजार के अन्य टैक्सटाइल मार्केट के प्रतिनिधियों ने हाल ही में रघुकुल मार्केट की सोसायटी के पदाधिकारियों व कपड़ा व्यापारियों के बिल्डर के खिलाफ संघर्ष और जीत की सराहना की और भविष्य में अन्य मार्केट में भी ऐसे ही संघर्ष पर सहयोग की अपेक्षा जताई। इसके बाद महानगरपालिका के दमकल दस्ते की ओर से कपड़ा बाजार के टैक्सटाइल मार्केट में फायर सैफ्टी के मामले में भेजे गए नोटिस के बारे में विस्तार से चर्चा की गई। बैठक में सिल्क हेरीटेज मार्केट के विनोद अग्रवाल ने अग्निशमन उपकरण की दर तय किए जाने की बात कही और बताया कि पारदर्शी कार्य की जरूरत है ताकि खरीदारी में धांधली की आशंका नहीं रहे। सर्वोदय मार्केट के अशोक मित्तल ने मनपा दस्ते के मार्केट सील करने पर आपत्ति उठाई और बताया कि अग्निशमन उपकरण की जरूरतें सभी मार्केट में पूरी होनी चाहिए, लेकिन उसकी एवज में मार्केट सील किए जाने की प्रशासनिक कार्रवाई का विरोध भी जरूरी है। वहीं, सांईकृपा मार्केट के शोभराज ने बताया कि मनपा प्रशासन को जरूरी नियम की लिस्ट मार्केट में व्यापारियों को सौंपनी चाहिए, ताकि वे उनका अनुसरण कर सकें। सूरत टैक्सटाइल मार्केट के गणेश जैन ने फायर एंबुलेंस की जरूरत के बारे में बताया। व्यापारी शंभु अग्रवाल ने बैठक में बताया कि दमकल वाहन जरूरत पडऩे पर आसानी से मार्केट पहुंच सकें। सिल्कप्लाजा मार्केट के व्यापारी पप्पुभाई ने बताया कि नए मार्केट में ही आग लगने की घटनाएं ज्यादा हो रही है, टोरंट पावर को वायरिंग जांचनी चाहिए। सिल्कसिटी मार्केट के कपड़ा व्यापारी अनिलकुमार ने बताया कि मार्केट परिसर में बिजली का भार एक साथ नहीं पड़े, इसके बारे में प्रबंधन को उचित व्यवस्था करनी चाहिए। एसजीटीटीए के सचिव सुनील जैन ने बताया कि साउथ गुजरात टैक्सटाइल ट्रेडर्स एसोसिएशन व्यापारियों की व्यापार हित में बनी संस्था है। बैठक के माध्यम से भविष्य में किसी भी हादसे की स्थिति में मार्केट एसोसिएशन के अध्यक्ष, सचिव व अन्य पदाधिकारियों के ऊपर कानूनी कार्रवाई ना हो, ऐसी योजना बनाई जा रही है। आगामी दिनों में मनपा के दमकल अधिकारी के साथ मार्केट-मार्केट सर्वे का भी प्रयास किया जाएगा, ताकि जरूरतों का बखूबी ध्यान हो सकें। बैठक में एसजीटीटीए के अध्यक्ष सांवरप्रसाद बुधिया, सचिव सुनील जैन, मोहन अरोरा, सुरेंद्र जैन, अवधेश टिकमानी, दिनेश कटारिया, ब्रजमोहन अग्रवाल, पप्पु छापरिया, विनोद अग्रवाल, सारंग जालान, संजय जैन समेत अन्य कई कपड़ा व्यापारी मौजूद थे। बैठक के अंत में रघुकुल मार्केट सोसायटी के अध्यक्ष श्रवण मेंगोतिया ने आभार व्यक्त किया।


...तो बन जाएगा एक और संगठन


बैठक में मोटी बेगमवाड़ी के टैक्सटाइल मार्केट के प्रतिनिधियों ने बताया कि फैडरेशन ऑफ सूरत टैक्सटाइल ट्रेडर्स एसोसिएशन की कपड़ा बाजार के व्यापारियों के प्रति बरती जा रही उदासीनता का ही परिणाम है कि पहले व्यापार प्रगति संघ और बाद में साउथ गुजरात टैक्सटाइल ट्रेडर्स ेएसोसिएशन बना। ऐसा ही चलता रहा तो मोटी बेगमवाड़ी क्षेत्र की टैक्सटाइल मार्केटें मिलकर एक नया संगठन बनाएगी, इसे रोकने के लिए आवश्यक है कि फोस्टा का नया सिरे से चुनाव कराए जाए ताकि कपड़ा बाजार में व्यापार हित के कार्यों को वेग मिल सकें।

Dinesh Bhardwaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned