CORRUPTION : दो युवक थाने में ही पुलिस के नाम से वसूल रहे थे रिश्वत !

SURAT NEWS :
- भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने जाल बिछा कर रंगे हाथो पकड़ा

Two youths accepting bribes bihaf of police in police station

Anti-corruption bureau caught red-handed with bribe at limbayat police station

सूरत. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने गुरुवार को एक आरोपी को जमानत पर रिहा करवाने के लिए रिश्वत लेते हुए दो जनों को रंगे हाथों गिरफ्तार किया। मजे की बात यह है कि ये दोनों खुद को पुलिसकर्मी बता कहीं और नहीं, बल्कि लिम्बायत थाने में ही पीडि़त से रिश्वत ले रहे थे। ऐसे में लिम्बायत पुलिस की कार्यशैली पर भी कई सवाल उठ रहे हैं। हालांकि इस मामले में थाने का कोई पुलिसकर्मी लिप्त था या नहीं, इसको लेकर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने कोई खुलासा नहीं किया है।


ब्यूरो सूत्रों के मुताबिक, लिम्बायत विनोबानगर निवासी शैलेश काले, शाी चौक निवासी शेख अब्दुल सफी दोनों बाहरी व्यक्ति लिम्बायत थाने में रिश्वत ले रहे थे। दरअसल, पीडि़त के पिता को लिम्बायत पुलिस ने जीपीएक्ट १३५ के तहत गिरफ्तार किया था। पीडि़त उनकी जमानत करवाने के लिए थाने पहुंचा तो वहां शैलेश ने अपनी पहचान पुलिसकर्मी के रूप में दी। उसने उसके पिता की वहीं जमानत करने के लिए दो हजार की रिश्वत मांगी।

पीडि़त ने रुपए कुछ कम करने के लिए कहा तो वह १२०० रुपए में जमानत करवाने के लिए तैयार हो गया। ५०० रुपए उसने तुंरत ले लिए और शेष ७०० रुपए गुरुवार को थाने में तीसरी मंजिल पर आकर देने के लिए कहा। इस पर पीडि़त ने ब्यूरो से संपर्क किया। ब्यूरो ने जाल बिछाया और उन्हें रुपए लेते हुए गिरफ्तार कर लिया।

Show More
Dinesh M Trivedi
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned