मुम्बई मंडल की वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक का दौरा, सीएमआई निलम्बित

- स्टेशन के कर्मचारियों में हडक़म्प...

- स्टेशन पर विज्ञापन बोर्ड के बारे में संतोषजनक जवाब नहीं मिला

By: Sanjeev Kumar Singh

Published: 28 Dec 2020, 10:08 PM IST

सूरत.

कोरोना के चलते लम्बे समय से रेलवे स्टेशन की गतिविधियां बंद रहने के बाद मुम्बई मंडल की वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक शनिवार को सूरत स्टेशन का निरीक्षण करने आई थीं। इसी दौरान वाणिज्य विभाग के अधिकारी से सूरत स्टेशन पर लगे विज्ञापन बोर्ड के संबंधित पूछताछ करने पर संतोषजनक जवाब नहीं मिलने उन्होंने सीएमआई को निलम्बित कर दिया। वहीं, ग्राउंड लेवल और प्लेटफार्म संख्या एक पर दो स्टॉल को अलग-अलग कारणों से सील करने के निर्देश दिए। वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक की इस कार्रवाई से स्टेशन पर हडक़म्प मच गया।

सूत्रों के अनुसार, उधना-भुसावल ताप्ती लाइन पर स्थित नंदूरबार रेलवे स्टेशन का पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक आगामी दिनों में निरीक्षण के लिए जाने वाले हैं। महाप्रबंधक के दौरे से पूर्व मंडल स्तर के अधिकारी भी बारी-बारी से नंदूरबार स्टेशन का दौरा कर अपने-अपने विभाग के कार्य को पूरा करने में जुटे हैं। इसी क्रम में मुम्बई मंडल की वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक जागृति सिंगला शनिवार को मुम्बई-अहमदाबाद शताब्दी स्पेशल में सूरत पहुंची थी। इसके बाद उन्होंने स्टेशन का दौरा कर वाणिज्य विभाग के कामकाज का निरीक्षण किया।

जानकारी के अनुसार सूरत स्टेशन परिसर में एक निजी कंपनी को विज्ञापन के लिए टेंडर दिया गया था, लेकिन कुछ समय पहले निजी कंपनी के विज्ञापन की समय अवधि पूरी हो गई थी। इसके बाद कंपनी ने अपने विज्ञापन तो हटा लिए, लेकिन विज्ञापन बोर्ड पर अपनी कंपनी के नम्बर डिस्पले कर रखे थे। इसी बात को लेकर जागृति ने सूरत के सीएमआई आर. आर. शर्मा से कंपनी के टेंडर के संदर्भ में पूछताछ की। शर्मा ने बताया कि विज्ञापन का कामकाज मुम्बई मंडल कार्यालय द्वारा देखा जाता है। ज्यादातर पार्टियां सीधे मुम्बई के अधिकारियों के कॉन्टेक्ट में रहते हैं और मंडल कार्यालय के आदेश के मुताबिक विज्ञापनों का डिस्पले किया जाता है। इसी बात को लेकर जागृति नाराज हो गई और शर्मा को कंपनी के टेंडर की जानकारी नहीं होने पर निलम्बित कर दिया। जागृति को ताप्ती गंगा स्पेशल में नंदूरबार जाना था, लेकिन ट्रेन छूटने के बाद वे निजी वाहन से नंदूरबार गई। इसके बाद शाम को फिर सूरत लौटीं और देर रात को मुम्बई के लिए रवाना हो गई। निरीक्षण के दौरान अधिकारियों के सख्त रवैये से वाणिज्य विभाग के कर्मचारियों में घबराहट का माहौल है।

दो स्टॉल को सील करने के निर्देश

वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक जागृति सिंगला ने सूरत स्टेशन के ग्राउंड लेवल पर एक स्टॉल का निरीक्षण किया। इस दौरान स्टॉल पर कार्यरत स्टाफ ने मास्क नहीं पहना था। इसके अलावा जागृति ने स्टॉल कर्मचारी से पेस्ट एंड कंट्रोल के कागज की मांग की। कागज नहीं दिखाने पर स्टॉल सील करने के निर्देश दिए। इसी तरह प्लेटफार्म संख्या एक पर सीटीआई ऑफिस के पास टी स्टॉल को भी नो बिल- नो पेमेंट के चलते सील कर दिया गया है।

पार्किंग जमीन की नापी, सब ठीक मिला

कोरोना रोकथाम के लिए रेलवे स्टेशन पर पार्किंग व्यवस्था सात-आठ माह लगातार बंद रखी गई थी। कुछ समय पहले पश्चिम की ओर ग्राउंड फ्लोर पर कार व दो पहिया पार्किंग शुरू की गई है। शनिवार को वाहनों की आवाजाही अधिक दिखाई दी। जबकि सूरत से उनको रिपोर्ट दी गई थी कि वाहनों की संख्या बहुत कम है। पार्किंग एरिया में ज्यादा वाहन खड़ा देखकर वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक जागृति सिंगला ने पार्किंग एरिया के जगह की नपती करवाई। उन्होंने स्टेशन मास्टर, इंजीनियरिंग विभाग और रेलवे सुरक्षा बल समेत अलग-अलग विभाग को बुला लिया। जांच के दौरान पार्किंग ठेकेदार के पास उतनी ही जगह मिली जितनी की रेलवे ने उसे दी थी। जबकि अन्य जगहों पर रेलवे कर्मचारी, कुली समेत अन्य लोगों के वाहन पार्किंग में मिले थे।

Show More
Sanjeev Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned