OMG : दो बार हुई उम्र कैद, फिर भी कर रहा था निजी कंपनी में नौकरी !

surat news :
- हत्या व लूट के दो मामलों में सात साल से फरार चल रहे अपराधी को आखिरकार सूरत क्राइम ब्रांच ने उत्तरप्रदेश के आगरा से गिरफ्तार किया।

सूरत. अहमदाबाद में युवक की हत्या और फिर सूरत में कार चालक की हत्या कर लूट के दो मामलों में आजीवन कारवास की सजा मिलने के बाद फरार हुए एक आरोपी को क्राइम ब्रांच ने उत्तरप्रदेश से गिरफ्तार किया है। सात साल से पुलिस उसकी खोज में थी।
पुलिस के मुताबिक उत्तरप्रदेश के मुरैना का निवासी पवन कुमार तोमर (41) 2004 में अहमदाबाद के मेघाणीनगर इलाके में रहता था। पड़ोस में रहने वाले तहसीलदार नाम के एक युवक के साथ किसी बात को लेकर विवाद होने पर उसने चाकू के 18 वार कर उसकी हत्या कर दी थी। हत्या के मामले में उसे आजीवन कारावास की सजा हुई थी, लेकिन वह फरार हो गया। वह भाग कर सूरत आ गया और यहां सीमाड़ा गांव में रह रहा था। 2009 में अपने तीन साथियों मदन मोहन, सोनू और अरविंद के साथ लूट के इरादे से उसने एक कार चालक की हत्या कर दी थी। इस मामले में कोर्ट ने उसे फिर आजीवन कारवास की सजा सुना कर वडोदरा सेंट्रल जेल भेज दिया था। 25 फरवरी, 2013 को पिता के चौथे के लिए उसे बीस दिन की अंतरिम जमानत पर रिहा किया गया था, लेकिन वह जेल नहीं लौटा। वह मुरैना से आगरा चला गया। तब से वह आगरा की सूर्य लोक कॉलोनी में परिवार के साथ रह रहा था और निजी मेट्रेस कंपनी में ठेके पर नौकरी कर रहा था। उसके बारे में मुखबिर से सूचना मिलने पर क्राइम ब्रांच ने उसे धर दबोचा और सूरत ले आई।

Dinesh M Trivedi
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned