किस बात पर बिगड़ गई बात और दे दी चेतावनी?

आयुक्त को दी चेतावनी, चाहे जो हो जाए सुरक्षा के बगैर नहीं करेंगे काम, अधिकारियों को घटना से सबक लेने की सीख

By: विनीत शर्मा

Updated: 03 Jan 2020, 09:19 PM IST

सूरत. सूरत महानगर पालिका में यूनियनों की स्टीयरिंग कमेटी ने सुरक्षा दस्ता मिले बगैर अवैध निर्माण और अतिक्रमण हटाने तथा सडक़ से आवारा पशुओं को पकडऩे का काम करने से इनकार कर दिया है। गुरुवार को चौटा बाजार में हुई घटना के विरोध में उन्होंने शुक्रवार को मनपा मुख्यालय में विरोध प्रदर्शन किया। कर्मचारियों के साथ हुई मारपीट का जिक्र करते हुए उन्होंने साफ किया कि जब तक इसके लिए अलग से सेल नहीं बनता और पुलिस टीम की स्थाई व्यवस्था नहीं होती, अतिक्रमण दस्ते का कोई कर्मचारी मौके पर नहीं जाएगा।

चौटा बाजार में गुरुवार को अतिक्रमण हटाने गई टीम के साथ हुई मारपीट से मनपा कर्मचारियों में असंतोष है। इस घटना के विरोध में अतिक्रमण दस्ते से जुड़े कर्मचारी सूरत महानगर पालिका की यूनियन की स्टीयरिंग कमेटी के नेतृत्व में शुक्रवार को मनपा मुख्यालय में जमा हुए। घटना के विरोध में नारेबाजी करते हुए उन्होंने ऐलान किया कि अब आगे से विभाग का कोई कर्मचारी अतिक्रमण हटाने, अवैध निर्माण ढहाने और सडक़ों पर आवारा फिर रहे जानवरों को पकडऩे का काम नहीं करेगा।

कमेटी के कन्वीनर मोहम्मद इकबाल शेख ने कहा कि इस काम के लिए अलग से सेल बनाया जाना चाहिए। इस सेल में पुलिस इंस्पेक्टर या पुलिस सब इंस्पेक्टर के नेतृत्व में पुलिस का दस्ता स्थाई रूप से होना चाहिए। टीम जब भी ऐसी कार्रवाई करने किसी क्षेत्र में जाए, यह दस्ता उसके साथ रहे। जब तक यह व्यवस्था नहीं होती, कोई कर्मचारी अतिक्रमण हटाने या जानवर पकडऩे के लिए सडक़ पर नहीं जाएगा।

शेख ने कहा कि पहले भी कई बार ऐसे हालात बने हैं, जब पुलिस सुरक्षा के अभाव में लोगों ने मनपा कर्मियों के साथ मारपीट की। अधिकारियों को इससे अवगत कराया जाता रहा है। इसके बाद भी उनकी सुरक्षा को लेकर मुकम्मल उपाय नहीं किए जा रहे हैं।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned