कहां निकली पीएम के स्वच्छता ही सेवा पखवाड़े की हवा...?

कहां निकली पीएम के स्वच्छता ही सेवा पखवाड़े की हवा...?
कहां निकली पीएम के स्वच्छता ही सेवा पखवाड़े की हवा...?

Sanjeev Kumar Singh | Updated: 19 Sep 2019, 10:10:40 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

सूरत में स्वच्छता सर्वे टीम के लौटते ही गमले-डस्टबीन गायब, फिर भिक्षुकों का जमावड़ा

ट्रैक किनारे की नालियां गंदगी से ओवरफ्लो

सूरत.

पश्चिम रेलवे 11 सितम्बर से दो अक्टूबर तक ‘स्वच्छता ही सेवा’ पखवाड़ा मना रही है, लेकिन सूरत स्टेशन पर एक दिन स्वच्छता कार्यक्रम के बाद सभी निर्देश ताक पर रख दिए गए। स्टेशन पर क्वॉलिटी काउंसिल ऑफ इंडिया का स्वच्छता सर्वे पूरा होने के अगले ही दिन एंट्री गेट के पास से गमले तथा स्टेशन परिसर में जगह-जगह रखे डस्टबीन उठा लिए गए। ब्रिज पर फिर बाहरी लोगों का जमावड़ा है और प्लेटफॉर्म चार पर ट्रैक के किनारे नालियां गंदगी से अट गई हैं।

रफाल विमान खरीदने वाली टीम के चेयरमैन रहे आरकेएस भदौरिया होंगे नए वायुसेना चीफ

स्वच्छता ही सेवा पखवाड़े के तहत सिंगल यूज प्लास्टिक के बैन को प्रमुखता से दर्शाते हुए विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। पश्चिम रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों ने सभी ‘ए 1' तथा ‘ए’ श्रेणी के स्टेशनों पर यात्रियों की सुगमता के लिए अधिक से अधिक कूड़ेदान उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। रेलवे कॉलोनियों में भी सफाई अभियान तथा बगीचे विकसित करने को कहा गया है।

मात्र चार दिनों में निवेशकों के डूबे 4 लाख करोड़ रुपए, करीब 1300 अंक डूबा सेंसेक्स

सूरत स्टेशन पर इन निर्देशों की पालना नहीं हो रही है। स्टेशन पर 13 सितम्बर को क्वॉलिटी काउंसिल ऑफ इंडिया के स्वच्छता सर्वे की टीम के दो सदस्य राजेश तिवारी और पवन परिख निरीक्षण करने आए थे। इसके मद्देनजर स्टेशन बिल्डिंग में प्रवेश करने वाले रास्ते पर गमले रखे गए था। आरक्षण केन्द्र परिसर में भी लोहे की रैलिंग के नजदीक गमले रखे गए थे। स्वच्छता टीम के लौटने के बाद हालत जस की तस हो गई है। स्वच्छता ही सेवा पखवाड़े के तहत भी स्टेशन परिसर में कोई हलचल नहीं दिख रही है।

पीवी सिंधु से 70 वर्षीय बुजुर्ग ने जताई शादी की इच्छा, कलेक्टर से कहा इंतजाम करो

राजस्थान पत्रिका ने बुधवार को स्टेशन परिसर का जायजा लिया तो कई कमियां नजर आईं। दो पहिया वाहन पार्किंग के पास रखे गए डस्टबीन हटा लिए गए हैं। पार्किंग कर्मचारियों ने बताया कि शनिवार को टीम के जाते ही अधिकारियों ने डस्टबीन वापस मांग लिए। प्लेटफॉर्म संख्या चार के उत्तरी छोर पर गंदगी से अटी नालियां ऊपर से बहती दिखाई दीं। ट्रैक के किनारे नालियों में गंदा पानी और प्लास्टिक बहता दिखाई दिया। श्वान भी प्लेटफॉर्म पर घूमते तथा प्लास्टिक में मुंह मारते नजर आए। स्थानीय अधिकारियों द्वारा स्वच्छता अभियान को लेकर ढुलमुल रवैया अपनाने से स्टेशन की साख खराब हो रही है।

चालान भरने में पसीने छूटते हैं तो ट्रैफिक नियम क्यों तोड़ते हैं आप...


क्वॉलिटी काउंसिल ऑफ इंडिया की टीम के सूरत दौरे के मद्देनजर सफाई के साथ-साथ स्टेशन परिसर में रहने वाले बाहरी लोगों को भी बाहर निकाल दिया गया था। टीम के दौरे पर तीनों ओवरब्रिज पर कोई व्यक्ति नहीं दिखा था, लेकिन टीम लौटने के बाद प्लेटफॉर्म चार पर बाहरी लोग लाइन लगाकर डेरा जमाए हुए हंै। फुट ओवरब्रिज पर भी भिक्षुकों का जमावड़ा है। यह लोग यहीं रहते और सोते हैं।

PM मोदी की कार से भी कहीं ज्यादा शक्तिशाली इन राष्ट्राध्यक्षों की कार


नर्सरी से लाए गए थे गमले

स्टेशन परिसर में सफाई व्यवस्था को बेहतर करने के लिए पिछले दिनों बिहार-झारखंड समाज ट्रस्ट द्वारा सूरत स्टेशन को डस्टबीन डोनेट किए गए थे, लेकिन इनका उपयोग बहुत कम हो रहा है। सूत्रों ने बताया कि स्टेशन परिसर में गमले रखने के लिए हर बार नर्सरी से पैसे देकर मंगवाए जाते हैं। स्थाई तौर पर स्टेशन को ग्रीन रखने के लिए कोई व्यवस्था नहीं है। उधना स्टेशन पर भी गेट के उद्घाटन कार्यक्रम में नर्सरी से गमले मंगवाए गए थे।

विराट कोहली समेत पूरी टीम इंडिया की सुरक्षा में हुई भारी चूक


स्टॉल को प्लास्टिक फ्री करने की पहल नहीं

सूरत स्टेशन पर 13 सितम्बर को नो प्लास्टिक और सिंगल यूज प्लास्टिक को लेकर अभियान शुरू किया गया था। इसके लिए स्काउट एंड गाइड के बच्चों को बुलाया गया था, जो नो प्लास्टिक और सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध जैसे स्लोगनों के साथ बैनरों, पोस्टरों तथा स्टीकरों के साथ प्लेटफॉर्म पर घूमे थे। दो अक्टूबर से सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध लग जाएगा, लेकिन स्टेशन के स्टॉल को प्लास्टिक फ्री बनाने के लिए कोई पहल नहीं की गई है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned