SUICIDE : पत्नी वॉचमैन के प्रेम में थी, त्रस्त होकर ग्यारहवीं मंजिल से कूदा


- युवक को आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज
- पत्नी गिरफ्तार, प्रेमी वॉचमैन फरार
- Case filed for forcing youth to commit suicide in surat
- Wife arrested, lover watchman absconding

By: Dinesh M Trivedi

Published: 09 Jan 2021, 10:36 PM IST


सूरत. करीब तीन सप्ताह पूर्व पाल आरटीओ के सामने एक इमारत की ग्यारहवीं मंजिल से कूदे युवक को आत्महत्या के लिए मजबूर करने के आरोप में अडाजण पुलिस ने उसकी पत्नी व पत्नी के प्रेमी वॉचमैन के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

पुलिस निरीक्षक एल.जी.निकुम ने बताया कि एलपी सवाणी रोड कलापी अपार्टमेंट निवासी पारस खन्ना उसकी पत्नी हिना की बेवफाई व हिना के प्रेमी गौरवपथ स्तृति आइकोन के वॉचमैन अंकित प्रसाद से त्रस्त था। वाहन डीलर पारस डेढ़ साल पूर्व स्तृति आईकोन में रहने के लिए आया था। उस दौरान वॉचमैन अंकित ने उसकी हिना को अपने प्रेम जाल में फंसा लिया।

हिना और अंकित के रिश्तों के बारे में पता चलने पर पारस ने दोनों को समझाने की कोशिश की, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। दोनों एक दूसरे से छिप-छिप कर मिलते थे। इस बारे में पता चलने पर पारस स्तुति आईकोन का फ्लैट छोड़ कर अपनी माता के साथ कलापी अपार्टमेंट रहने आ गया। अंकित यहां भी उसकी पत्नी से चोरीछिपे मिलने आता था। एक दिन पारस ने उसे पकड़ लिया तो उसने पारस को धमकी दी कि वह उसकी पत्नी को भगा ले जाएगा।

यदि उसने बीच में आने की कोशिश की तो उसे जान से मार देगा। सामाजिक प्रतिष्ठा की चिन्ता व हिना तथा अंकित की धमकियों के चलते परेशान रहता था। 14 दिसम्बर को रात करीब ग्यारह बजे वह पाल आरटीओ के सामने निर्माणाधिन कासा रीवेरा बिल्डिंग की छत से कूद गया। मृतक की माता, मित्रों, परिचितों से पूछताछ और मोबाइल आदि से जांच में सामने आए तथ्यों के आधार पर पुलिस ने शुक्रवार को पारस की माता की प्राथमिकी के आधार पर मामला दर्ज किया। पुलिस उसकी पत्नी हिना को गिरफ्तार कर लिया है तथा फरार प्रेमी की खोज शुरू कर दी है।

पहले भी किया था आत्महत्या का प्रयास

पुलिस सूत्रों के मुताबिक नवम्बर माह में भी पारस ने एक बार आत्महत्या का प्रयास किया था। वह ओएनजीसी ब्रिज से तापी नदी में छलांग लगाने के लिए गया था। उस दौरान पुलिसकर्मियों ने उसे देखा और रोका था। उससे पूछताछ भी की थी लेकिन उसने बदनामी के डर से पुलिस को कोई कारण नहीं बताया था।

बिल्डर का पुत्र बता कर घुसा, मित्र को भेजा मैसेज


पुलिस ने बताया कि रात में जब पारस कासा रिवेरा बिल्डिंग में आत्महत्या करने के लिए गया। उस दौरान सुररक्षाकर्मी धन बहादुर ने उसे रोका था। इस पर उसने कहा कि वह बिल्डर का पुत्र है तथा उसका सामान पीछे रह गया है। वह लेने जा रहा है। धन बहादुर फिर भी नहीं माना तो उसे धक्का मार कर उपर चला गया। धन बहादुर एक अन्य कर्मचारी कांति के साथ उसे बिल्डिंग में ढूंढ रहा था।

उसी समय वह नीचे गिरा। आत्महत्या से पूर्व पारस ने अपने मित्र हार्दिक को व्हॉट्सएप पर अंकित का फोटो भेजकर मैसेज में लिखा था कि उसकी आत्महत्या के लिए अंकित जिम्मेदार है। उसने हार्दिक को उसका अंतिम संस्कार करने के लिए भी कहा। साथ ही अपने मोबाइल का पासवर्ड भी मैसेज में बताया था।

Dinesh M Trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned