पत्नी के अलग होने पर पतिओं ने किए ऐसे कारनामें, पढक़र चौंक जाओगे...

पत्नी के अलग होने पर पतिओं ने किए ऐसे कारनामें, पढक़र चौंक जाओगे...

Sandip Kumar N Pateel | Publish: Sep, 16 2018 08:34:30 PM (IST) Surat, Gujarat, India

एक ने कार बेची, दूसरे ने पांच लाख हड़पे, पतियों के खिलाफ दो अलग-अलग मामले दर्ज

सूरत. दो विवाहिताओं ने शहर के पूणागाम एवं अडाजण थानों में अपने पति पर धोखाधड़ी और प्रताडऩा का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज करवाई है।


पूणगाम पुलिस के मुताबिक नवसारी निवासी हितेश ठाकोर ने उसकी पत्नी के साथ धोखाधड़ी की। २०१५ में दोनों ने मिलकर कार खरीदी थी। बाद में अनबन होने पर वे अलग हो गए थे तथा पीडि़ता ने हितेश के खिलाफ प्रताडऩा की शिकायत की थी। इस बीच हितेश ने उसके फर्जी हस्ताक्षर कर कार बेच दी। साथ ही वह शिक्षिका पीडि़ता के कार्यस्थल पर आकर उसके साथ बातचीत करने का दबाव डालने लगा। पीडि़ता के परिजनों को भी मैसेज पर आत्महत्या तथा पीडि़ता के वीडियो अपलोड करने की धमकी देने लगा। इस पर पीडि़ता ने पुलिस से संपर्क साधा।


अडाजण पुलिस के मुताबिक जनकपुरी वेस्ट दिल्ली निवासी हेमल सूरती ने उसकी पत्नी के संयुक्त खाते से पांच लाख रुपए हड़प लिए। शादी के बाद पीडि़ता के दिल्ली के मूल निवास का प्रमाण पत्र नहीं होने के कारण उसने पति के साथ संयुक्त खाता खुलवाया था। जिसमें उसके वेतन के रूपए भी जमा होते थे। चार माह बाद अनबन होने पर वह अलग हो गई थी। इस बीच खाते में जमा उसके वेतन के छह लाख रुपए में पांच लाख रुपए हेमल व उसके माता पिता ने निकाल लिए।

 

कर्ज में डूबे सट्टेबाज मैनेजर ने की आत्महत्या

 

सूरत. आइपीएल के क्रिकेट मैचों पर सट्टा खेलने के चक्कर में कर्ज तले डूबे हीरा कंपनी के एक प्रबंधक ने तापी नदी में कूद कर जान दे दी। वहीं अन्य एक मामले में हीरा व्यवसाय से जुड़े एक व्यक्ति ने भी कर्ज से परेशान होकर आत्महत्या कर ली।
पुलिस के मुताबिक वराछा रेशमभवन अपार्टमेंट निवासी और हीरा कंपनी में मैनेजर किशोर वेलजी देलवाडिय़ा (49) का शव शनिवार सुबह अमरोली-उत्राण के बीच तापी नदी से मिला। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का कब्जा लेकर जांच के लिए अस्पताल भेज दिया। मृतक की जेब से मिले मोबाइल फोन से पुलिस ने परिजनों से संपर्क किया। प्राथमिक जांच में पता चला है कि किशोर 11 सितम्बर से लापता था। उसे क्रिकेट सट्टा खेलने का शौक था और आइपीएल के दौरान वह पांच लाख रुपए हार गया था, जिससे उस पर कर्ज होने से वह परेशान रहता था।

 

हीरा व्यवसायी ने भी कर्ज के कारण जान दी



अन्य एक मामले में हीराबाग के क्रिष्णानगर निवासी महेश मोहन अणधण (43) ने शुक्रवार सुबह घर में विषाक्त पदार्थ का सेवन कर लिया था। परिजनों ने उसे निजी अस्पताल में भर्ती करवाया। यहां शाम को उसकी मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि महेश हीरा व्यवसाय से जुड़ा था और उस पर कर्ज था। आशंका है कि इसी कारण उसने आत्महत्या कर ली।

Ad Block is Banned