सर्दी का सितम, तापमान में आई गिरावट

मौसम विभाग का अनुमान अगले 48 घंटे बाद तापमान में वृद्धि होने लगेगी


The Meteorological Department estimates that the temperature will start increasing after the next 48 hours.

Sunil Mishra

January, 1909:49 PM

सिलवासा. जनवरी के दूसरे सप्ताह बाद ठंडक ने ठिठुरा दिया है। उत्तरी राज्यों में बारिश एवं ओलावृष्टि से 19 जनवरी को तापमान 11.7 डिग्री सेंटीग्रेड तक गिर गया। रात के अलावा दिन के तापमान में भी काफी गिरावट आई है।
मौसम विभाग के अनुसार अगले 48 घंटे बाद तापमान में वृद्धि होने लगेगी। मकर संक्रांति पर बढ़ी ठंडक से निजात के लिए लोग दिन में गर्म कपड़े पहन रहे हैं। सुबह शाम दोनों वक्त सडक़ और बाजारों में चहल-पहल घट गई है। शहर में प्रात:कालीन भ्रमण करने वाले लोग घरों से नहीं निकल पा रहे हैं। सर्दी के मौसम में नदी, जलाशयों में शांत वातावरण है। पानी का तापमान गिरने से जलीय जीवों की हलचल कम हो गई है। ठिठुरन के कारण मधुबन डेम जलाशय में मछली पकडऩे के लिए मछुआरे कम जा रहे हैं। इधर, बढ़ी ठंडक से किसान खुश हैं। किसानों के अनुसार बढ़ी ठंडक से गेहूं, जौ,चना, सरसों की फसलों में फायदा हुआ है। सरसों व चने में पुष्पारण होने लगा है। सरसों के खेत पीले फूलों से रंग गए हैं। ठंड के साथ औस गिरने से चना एवं सरसों के खेत में सिंचाई की जरूरत नहीं रही।
दिन निम्न व उच्च ताप
11 जनवरी 20.6 28.6
12 जनवरी 19.8 28.5
13 जनवरी 19.2 27.2
14 जनवरी 15.4 26.8
15 जनवरी 13.3 24.7
16 जनवरी 12.8 22.0
17 जनवरी 12.6 22.6
18 जनवरी 11.7 21.8
19 जनवरी 11.7 21.1
20 जनवरी 11.1 22.5

Must Read Related News;

फिर पड़ेगी हाड़ कंपाने वाली ठंड, तापमान में इस कारण आई अचानक गिरावट

current weather: बर्फबारी के बाद कड़ाके की ठंड, अभी और परेशान करेगी ठंड

बर्फबारी से गुलजार हुआ हिमाचल, मध्यप्रदेश में और बढ़ेगी ठंड

Today weather and forecast: हिमालय से आ रही बर्फीली हवाओं का कहर शुरू, 25 जनवरी को फिर वापसी करेगी तेज ठंड

सर्दी का सितम, तापमान में आई गिरावट

ठंडक बढऩे से मंजर से लद गए पेड़
सिलवासा. ठंडक बढऩे से आम के पेड़ों पर मंजर दिखाई देने लगे हैं। गत माह आधे दिसम्बर तक सर्दी की कमी से किसान चिंतित थे। आम के पेड़ 20 डिग्री से नीचे तापमान पर अच्छे पुप्पारण करने लगते हंै। कई पेड़ों पर जमकर फूल दिखाई देने लगते हैं। दिसम्बर के अंतिम सप्ताह से सर्दी ने जबरदस्त दस्तक दी है। ठंडक से फसलों में व्यापक वृद्धि हुई है। रबी की फसलों के साथ आम के पेड़ मंजरों से लद गए हैं। अच्छी ठंडक से किसानों के चेहरों पर रौनक लौटी है। दिसम्बर तक सर्दी के अभाव से किसान परेशान थे। जनवरी में अच्छी ठंडक से रबी की फसलों में काफी फायदा हुआ है। चालू वर्ष में सर्दी की दस्तक देर से हुई है। इससे रबी की फसलों के तैयार होने में अधिक समय लग सकता हैं। मौसम में ठंडक बढऩे से आम के पेड़ों में पुष्पारण होने लगा हैं। माह के अंत तक आम के पेड़ों में पुष्पारण की प्रक्रिया होनी जरूरी है। फरवरी से फूलों में निषेचन होने लगता है। अच्छे मौसम से रूदाना, आंबोली, खेरड़ी, पारजाई, सिंदोनी, मांदोनी, कौंचा में आम के बागान मंजरों से लद गए हैं। आम में निषेचन समय पर पूरा हुआ तो फल मई में आने लगेंगे। कृषि अधिकारी एस भोया ने बताया कि सर्दी के मौसम में अत्यधिक ओस व आंधी-धूल आम के निषेचन को विपरीत असर करती है। आम के पुष्पारण के लिए मौसम में ठंडक लाभदायक रहती है।

Show More
Sunil Mishra Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned