महिलाओं ने किया भजन कीर्तन

महिलाओं ने किया भजन कीर्तन

Sunil Mishra | Updated: 13 Aug 2019, 09:22:19 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

सोसायटियों में भजन-पूजन

सिलवासा. हिन्दू धर्म में सावन-भाद्रपद माह पवित्र एवं दान पुण्य का माना गया है। इन माह में धर्म, साधना, पूजा अर्चना, भजन कीर्तन से वर्षभर का पुण्य प्राप्त होता हैं। आमली तिरूपति रेंजीडेंसी में आसपास की महिलाओं ने पूजन, भजन कीर्तन व सत्संग रखा, जिसमें भगवान श्रीकृष्ण, सालासर हनुमान और शिव-पार्वती के भजन सुनाए। राधा तेरे संग आए मुरलीवाले, मैं पागल हो गई बांसुरी के ध्यान में, राधा का भी श्याम, कभी राम बनके कभी श्याम बन के जैसे भजनों के साथ कइयों ने घूमर किया।
शहर में महिलाएं ढोल-मजीरा,बांसुरी, हारमोनियम, तबला लेकर घर-घर भक्ति का अलख जगा रही हैं। सोसायटियों में वाद्य यंत्र और पूजन सामग्री लेकर लेकर नियमित पूजा के बाद भजन कीर्तन करती हैं। भगवान को चरण स्पर्श करके भगवान की आरती उतारती हैं। तिरूपति रेजीडेंसी में आशा इन्दोरिया, संतोष शर्मा, जया जैन, संतोष हिसारिया, सुनीता राठी, ऊषा बूबना, गायत्री अग्रवाल, सरोज इन्दोरिया, ममता शर्मा ने बारी बारी से पूजा करके राधा-कृष्ण के कर्णप्रिय भजन सुनाए। भजन कीर्तन से पहले भगवान को पवित्र प्रसाद का भोग लगाया। महिलाओं ने बताया कि भजन कीर्तन के लिए आपस में बैठकर पूर्व निर्णय लेती हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned