Billie jean King cup: थोड़ा पहले मुकाबले के अनुकूल होती तो चीजें अलग होतीं-अंकिता रैना

मुकाबले के बाद वर्ल्ड रैंकिंग की 174वीं नंबर की खिलाड़ी अंकिता रैना ने अपनी हार का विश्लेषण करते हुए कहा कि पहले सेट से ही उन्हें समझ में आ गया कि वह (ओस्टापेंको) क्या कर रही थीं।

By: Mahendra Yadav

Updated: 19 Apr 2021, 11:17 AM IST

भारतीय महिला टेनिस टीम की टॉप रैंक की एकल खिलाड़ी अंकिता रैना बिली जीन किंग कप (पहले फेड कप के नाम से मशहूर) बीजेके कप के शुरूआती मुकाबले में लातविया की खिलाड़ी से हार गईं। इस मैच के बाद अंकिता ने कहा कि अगर वह अपनी प्रतिस्पर्धी के खिलाफ पहले से ही मुकाबले के अनुकूल होतीं तो शायद चीजें थोड़ा अलग होती। बता दें कि बिली जीन किंग कप में भारतीय महिला टेनिस टीम की टॉप रैंक की एकल खिलाड़ियों अंकिता रैना और करमन कौर थांडी का सामना लातविया की प्लेयर से हुआ और इसमें भारतीय प्लेयर्स को हार का सामना करना पड़ा। इस हार के बाद लावतिया ने ने भारत पर 2-0 से बढ़त बना ली है।

खेल में बदलाव की आवश्यकता थी
मुकाबले के बाद वर्ल्ड रैंकिंग की 174वीं नंबर की खिलाड़ी अंकिता रैना ने अपनी हार का विश्लेषण करते हुए कहा कि पहले सेट से ही उन्हें समझ में आ गया कि वह (ओस्टापेंको) क्या कर रही थीं। साथ ही अंकिता ने कहा कि उन्हें अपने खेल में बदलाव करने की आवश्यकता थी। वह ओस्टापेंको के खेल के अनुकूल हो सकी, लेकिन अगर वह पहले अनुकूल हो जातीं तो शायद परिणाम कुछ और होता। बता दें कि 2017 की फ्रेंच ओपन चैंपियन ओस्टापेंको ने अंकिता रैना को 6-2, 5-7, 7-5 से हराया। बता दें कि दो घंटे और 24 मिनट में ओस्टापेंको ने यह मुकाबला जीता।

यह भी पढ़ें— 405 दिन बाद कोर्ट में उतरे रोजर फेडरर, जीत के साथ शानदार वापसी

ओस्टापेंको सर्वश्रेष्ठ स्तर पर खेली
अंकिता ने कहा कि जब हम देश के लिए खेलते हैं तो मैच में भी दिखता है कि हर चीज के लिए लड़ते हैं। अंकिता का कहना है कि उन्हें लगा कि वे पहले सेट में थोड़ा बेहतर कर सकती हैं और अंकिता ने दूसरा सेट जीतने के लिए कोशिश की। हालांकि अंकिता ने ओस्टापेंको की तारीफ करते हुए कहा कि वे सर्वश्रेष्ठ स्तर पर खेली हैं और पहले भी इस तरह के मैच खेल चुकी हैं।

यह भी पढ़ें— टेनिस महिला रैंकिंग : अंकिता भारत की शीर्ष रैंकिंग खिलाड़ी के तौर पर बरकरार

थांडी को सेवास्तोव ने हराया
वहीं करमन कौर थांडी को लातविया की नंबर 1 खिलाड़ी सेवास्तोवा ने 6-4, 6-0 से मात दी। एक घंटे और 17 मिनट में सेवास्तोवा ने यह मुकाबला जीता। मैच के बाद थांडी ने कहा कि पहली बार शीर्ष-50 खिलाड़ी के खिलाफ खेलने से सीखने का बहुत बड़ा अनुभव है। थांडी ने यह भी कहा कि उन्हें अपने बैसिक पहलू पर काम करने की आवश्यकता है। कुछ साल बाद इस स्तर पर खेलना और एक शीर्ष -50 खिलाड़ी के खिलाफ खेलना आसान नहीं है। यह अच्छा अनुभव था। रिवर्स सिंगल मुकाबलों में अब सेवास्तोवा का सामना रैना से जबकि ओस्टापेंको का सामना थांडी से होगा। युगल मुकाबलों में अब लातविया की डायना मसिंर्केविका और डेनियाला विस्माने का सामना सानिया मिर्जा और रैना की जोड़ी से होगा।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned