FRENCH OPEN: रोलां गैरो में 88 में से 86 मैच जीत राफेल नडाल ने रचा इतिहास, 11वीं बार जीता खिताब

FRENCH OPEN खिताब को 11वीं बार जीतकर राफेल नडाल ऐसे पहले खिलाड़ी बन गए हैं जिन्होंने एक ही ग्रैंड स्लैम इतनी दफा जीता हो।

By: Akashdeep Singh

Published: 11 Jun 2018, 07:32 AM IST

नई दिल्ली। लाल बजरी के बादशाह और वर्ल्ड नंबर-1 स्पेन के राफेल नडाल ने आस्ट्रिया के डोमिनिक थीम को हराकर साल के दूसरे ग्रैंड स्लैम, फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट का पुरुष एकल का खिताब जीत लिया है। वर्ष 2005 में 19 साल की उम्र में रौलां गैरों में पहली बार चैंपियन बनने वाले नडाल के करियर का यह 11वां फ्रेंच ओपन और 17 वां ग्रैंड स्लैम खिताब है।वह फ्रेंच ओपन में केवल दो मैच हारे हैं, एक 2015 में नोवाक जोकोविक के हाथों और दूसरा 2009 में रोबिन सोडरलिंग के हाथों।


थीम को सीधे सेटों में दी मात
टॉप सीड नडाल ने रविवार को खेले गए फाइनल मुकाबले में पहली बार किसी ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट के खिताबी मुकाबले में पहुंचे थीम को सीधे सेटों में 6-4, 6-3, 6-2 से मात दी। स्पेनिश खिलाड़ी ने दो घंटे 42 मिनट में यह मुकाबला जीता। रोलां गैरो पर नडाल ने दूसरी बार थीम को हराया है। उन्होंने पिछले साल सेमीफाइनल में थीम को मात दी थी। रौलां गैरों में नडाल 87 मैचों में से केवल दो मैच ही हारे हैं।


महानतम खिलाड़ी बनने की ओर नडाल
नडाल इतिहास में दूसरे ऐसे टेनिस खिलाड़ी हैं जिन्होंने ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट को 11 बार अपने नाम किया है। इससे पहले, यह रिकॉर्ड आस्ट्रेलिया के मारग्रेट कोर्ट के नाम था जिन्होंने 1960 से 1973 के बीच 11 बार आस्ट्रेलियन ओपन का खिताब जीता था। 32 साल के नडाल पुरुष वर्ग में सर्वाधिक ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने के स्विटजरलैंड रोजर फेडरर से तीन ग्रैंड स्लैम पीछे हैं। फेडरर ने अब तक 20 ग्रैंड स्लैम खिताब जीते हैं।


थीम से 7-3 के अन्तर से आगे हैं नडाल
वहीं दूसरी तरफ थीम एकमात्र ऐसे खिलाड़ी थे जिन्होंने क्ले कोर्ट पर नडाल को हराया था। थीम ने मई 2017 और पिछले महीने मेड्रिड ओपन में नडाल को मात दी थी लेकिन इस बार वह नडाल की चुनौती से पार नहीं पा सके। नडाल ने अपने करियर में 10 मुकाबलों में से सात बार थीम को पराजित किया है।


नडाल ने थीम को सराहा
नडाल ने इस खिताबी जीत के बाद कहा, "मैं डोमिनिक और उनकी टीम को शाबाशी देना चाहता हूं। आपके साथ खेलना सम्मान की बात है। आप एक महान खिलाड़ी हैं। ऐसे ही प्रदर्शन करते रहिए। मैं आपको शुभकामनाएं देता हूं।" उन्होंने कहा, "इस खिताबी जीत के लिए मैं अपनी टीम और परिवार के सभी सदस्यों को धन्यवाद देना चाहता हूं। सभी ने प्रत्येक दिन मेरी मदद की। आपके बिना यह असंभव था। हमने पिछले साल कुछ मुश्किल समय बिताए, इसलिए फिर से यह खिताब जीतना एक सपना था।"

Show More
Akashdeep Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned