हायर सेकेंडरी के अंग्रेजी, हिन्दी, संस्कृत के साथ उर्दू विषय का हुआ पेपर

माध्यमिक शिक्षा मंडल की बोर्ड परीक्षा को सम्पन्न कराने के लिए सामान्य और प्रतिवंधित परीक्षा केंद्रों में प्रशासन के साथ शिक्षा विभाग की नजर पैनी बनी रही।

By: akhilesh lodhi

Published: 07 Mar 2020, 05:00 AM IST

टीकमगढ़.माध्यमिक शिक्षा मंडल की बोर्ड परीक्षा को सम्पन्न कराने के लिए सामान्य और प्रतिवंधित परीक्षा केंद्रों में प्रशासन के साथ शिक्षा विभाग की नजर पैनी बनी रही। शांति पूर्ण तरीके से परीक्षा आयोजित करने के लिए केंद्रध्यक्ष और सहायक केंद्रध्यक्षों के साथ क्षेत्रीय टीमों द्वारा नकलर्चियों की चेकिंग की जा रही है। जिसमें परीक्षा शांतिपूर्ण तरीक से की जा रही है। इसके साथ ही परीक्षा के समय धारा १४४ का भी पालन किया जा रहा है। जिसमें १०० मीटर की दूरी पर लोग खड़े दिखाई दे रहे है।
शुक्रवार को द्वितीय भाषा सामान्य अंग्रेजी, हिन्दी, संस्कृत, उर्दू विषयों का ५३ परीक्षा केंद्रों में परीक्षा आयोजित की गई। सुबह से ही परीक्षा शुरू होने के पहले मुख्यद्वार पर केंद्र और सहायक अध्यक्षों के साथ नियुक्त टीमों द्वारा परीक्षार्थियों की जांच की गई। प्रवेश पत्र पर नाम, रौल नम्बर के साथ पेन बॉक्स को देखा गया। इसके बाद परीक्षा केंद्र में जाने दिया। कॉपी पुस्तिका को देते समय तीसरे पेपर में सभी टीमों द्वारा सघन चेकिंग की गई। कई जगहों पर चेकिंग अधिकारी और छात्रों के बीच बहस भी हुई।
इन विषयों के किए पेपर
सहायक संचालक और बोर्ड परीक्षा प्रभारी सुरेश सोनी ने बताया कि शुक्रवार की दोपहर ९ बजे से १२ बजे तक द्वितीय भाषा सामान्य में पांच विषयों की पेपर आयोजित किए गए। जहां अंग्रेज में १३ हजार ६८५ छात्र-छात्राओं का पंजीयन किया गया। जिसमें १३ हजार २३२ छात्र पेपर में शामिल हुए और ४५३ अनुपस्थित रहे। संस्कृ त में १ हजार ५ छात्रों का पंजीयन किया गया। जिसमें ४५ अनुपस्थित रहे। हिन्दी में ६९१ में से ५ अनुपस्थित और उर्दू विषय में ७ में से ६ उपस्थित रहे। सघन चेकिंग के कारण नकल मुक्त परीक्षा रही।


बोर्ड के यह रहे नियम
बोर्ड परीक्षाएं आयेाजित कराने के लिए जिले के सभी परीक्षा केंद्रों पर नकल की रोकथाम के लिए धारा १४४ लगा दी गई। यह धारा परीक्षा तक ही लगाई जा रही है। जिसमें जिले के एसडीएम, तहसीदार के साथ विभिन्न विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को तैनात किया गया। उनके द्वारा अनुचित नकल के साधनों को रोकनों को रोकने के लिए प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए गए है।
कलेक्टर ने यह दिए निर्देश
जिले के सभी परीक्षा केंद्रों में परीक्षा अवधि के दौरान 100 मीटर के अंदर से बाहर छात्र-छात्राओं के परिजनों को रहने के आदेश जारी किए है। इस सीमा में कोई भी व्यक्ति अस्त्र-शस्त्र, लाठी, बल्लम, चाकू, विस्फोटक पदार्थ के साथ धारदार हथियार प्रतिबंधित है। आदेश में कलेक्टर का कहना था कि अगर कोई भी व्यक्ति यह वस्तु लेकर मिलता है तो उनके विरूद्ध धारा १८८ की कार्रवाई की जाएगी।

akhilesh lodhi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned