बोरवेल में प्रहलाद: प्रार्थना और प्रयास सब बेकार, मृत निकला प्रहलाद

90 घंटे तक चले निरंतर चले प्रयास एवं तमाम प्रार्थनाएं निरर्थक साबित हुई। पृथ्वीपुर ब्लॉक के ग्राम सेतपुरा में बोर में फंसा 4 साल का मासूम प्रहलाद जिंदगी की जंग हार गया

By: anil rawat

Published: 08 Nov 2020, 10:27 AM IST

टीकमगढ़/पृथ्वीपुर. 90 घंटे तक चले निरंतर चले प्रयास एवं तमाम प्रार्थनाएं निरर्थक साबित हुई। पृथ्वीपुर ब्लॉक की पंचायत बारहोबुजुर्ग के ग्राम सेतपुरा में बोर में फंसा 4 साल का मासूम प्रहलाद जिंदगी की जंग हार गया। रविवार की अलसुबह 3 बजे रेस्क्यू टीम ने जब प्रहलाद को बाहर निकाला तो उसकी सांसे थम चुकी थी। घटना के बाद शासन ने मृतक प्रहलाद के परिजनों को 5 लाख रुपए की आर्थिक मदद की घोषणा की है।


बुधवार की सुबह 9.20 बजे के लगभग ग्राम सेतपुरा में 4 साल का मासूम उसके खेत पर खोदे गए 200 फीट गहरे बोरवेल में जा गिरा था। सूचना मिलते ही प्रशासन ने तमाम मशीनरी एवं विशेषज्ञ टीमों को मौके पर बुलाकर प्रहलाद को बाहर निकालने का प्रयास शुरू कर दिया। जैसे-जैसे प्रहलाद को बाहर निकालने का प्रयास किया जा रहा था, वैसे-वैसे इस मासूम की सांसे उसका साथ छोड़ती जा रही थी। रेस्क्यू पूरा होने में हो रही देरी के बाद प्रशासन और आमजन भी प्रहलाद के सुरक्षित बाहर निकलने को लेकर निराश होते दिख रहे थे और निवाड़ी कलेक्टर आशीष भार्गव भी कई बार कह चुके थे कि अब तो भगवान ही मालिक है।

 

आई अड़चने
शनिवार की सुबह से ही प्रशासन, रेस्क्यू टीम के साथ तमाम लोगों को उम्मीद थी कि आज दोपहर तक प्रहलाद बाहर निकल आएगा। शनिवार की शाम 4 बजे तो रेस्क्यू टीम के इशारे पर तो लगा कि बस प्रहलाद बाहर आने वाला है और प्रशासन ने तत्काल ही एम्बूलेंस के साथ ही तमाम चिकित्सकीय सुविधा जुटा ली। वहीं यह देखकर मौके पर उपस्थित हजारों लोगों के चेहरें भी आशा भरी खुशी के साथ चमकते दिखाई दिए और लोगों ने भगवान के जयकारे तक लगा दिए। लेकिन रेस्क्यू टीम के दिशा भटक जाने से टनल बोर तक नहीं पहुंच सकी थी और एक बार फिर से काम शुरू हुआ। उस समय बताया गया कि अभी एक से डेढ़ घंटे का समय और लगेगा, लेकिन जब रात 11 बजे तक सफलता नहीं मिली तो झांसी से एक्सपर्ट बुलाए गए।

वहीं हुआ जिसका डर था
रविवार की अलसुबह 3 बजे तक चले रेस्क्यू के बाद टीम ने प्रहलाद को तो बाहर निकाल लिया, लेकिन हुआ वहीं जिसका सभी को डर था। बोरवेल से प्रहलाद का मृत शरीर ही बाहर निकला। टीम ने प्रहलाद को बाहर निकलाने के बाद उसके माता-पिता के साथ उसे तत्काल एम्बूलेंस में बैठाया और निवाड़ी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भेजा। यहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद पोस्टमार्टम कर शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया।

Show More
anil rawat Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned