परिवहन विभाग ने बस स्टेण्ड और बसों में चस्पा करवाएं निर्देश

प्राईवेट बसों में दिव्यांगों को केवल ५० प्रतिशत किराया ही देना होगा।

By: akhilesh lodhi

Published: 03 Mar 2019, 08:00 AM IST

टीकमगढ़.प्राईवेट बसों में दिव्यांगों को केवल ५० प्रतिशत किराया ही देना होगा। प्रत्येक बस की पांच सीटें ही उनके लिए आरक्षित की गई है। अगर दिव्यांगों की सीटों को बस ऑपरेटरों द्वारा आरक्षित नहीं किया गया है तो उनकी बस का परमिट कैंसल करने की कार्रवाई की जाएगी।
वर्षो से बस ऑपरेटरों की मनमानी और आरटीओ विभाग की लापरवाही के कारण बसों की आरक्षित सीट समाप्त ही नजर आ रही थी। दिव्यांगों को सीट के नीचे बैठे दिखे जाते थे। इसके साथ पूरा किराया वसूला जाता था। कई बार शिकायत की गई। जिसको लेकर प्रदेश स्तर पर परिवहन विभाग ने आरटीओं को निर्देश दिए। बस स्टैण्ड की सभी प्राईवेट बसों में १ से ५ सीट आरिक्षत की गई है। आरटीओ विभाग ने दोनों के प्रत्येक बस स्टेण्ड पर दिव्यांगों को मिलने वाली सुविधाओं के बोर्ड भी लगाए गए है। इसके साथ ही बसों में दिव्यांगों के लिए सीट आरक्षित की गई है। किसी भी दिव्यांगों को बस में खड़े होकर सफर नहीं करेंगा। उनके लिए सीट छोडऩी होगी। दिव्यांग के लिए ये निर्देश कई दिनों पहले जारी कर दिए गए थे। लेकिन बस ऑपरेटरों द्वारा इन नियमों का पालन नहीं किया जा रहा था। इस कारण से अब सूचना चस्पा कराई गई है।
पूरे प्रदेश में आधे टिकट पर करेगें सफर
आरटीओ विमलेश गुप्ता ने बताया कि दिव्यांग आधे टिकट पर प्रदेश में सफर कर सकेंगे। उन्हेेंं भोपाल जाने के लिए के लिए एसी बसों में सामान्य यात्रियों से थोड़ा कम देना होगा। इसके साथ ही इन्हें जबलपुर, इंदौर और ग्वालियर के साथ अन्य स्थानों पर जाने के लिए लाभ मिलेगा। ट्रेन छूटने पर दिव्यांगों को बस में भारी किराया का सामना करना पड़ता था। लेकिन अब आर्थिक रूप से ज्यादा परेशान नहीं होना पडेगा। इसके साथ ही उन्हें बस में बैठने के लिए सीट रिजर्व होगी। इससे वे बिना परेशान हुए प्रदेश में कही भी यात्रा कर सकेंगे।


दिव्यांगों ने पहले किया आंदोलन, इसके बाद जारी किए निर्देश
दिव्यंागों ने संभाग और प्रदेश स्तर पर मांगों को लेकर एक से दो बार आंदोलन किए थे। इसके साथ ही शहर में रैली का आयोजन किया गया था। दिव्यांगों को लाभ देने के लिए कलेक्टर को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिए थे। जिसको लेकर प्रदेश शासन के निर्देश पर दिव्यांगों का आधा किराया किए जाने के बस स्टेण्ड और बसों में बोर्ड लगाए गए है।
बसों में नहीं दिखा आरटीओ विभाग के आदेश का असर
जिले के श्यामा प्रसाद मुखर्जी नया बस स्टेण्ड पर आरटीओ विभाग के आदेश का कोई असर नहीं दिखा है। कई बसों में न तो आरक्षित सीट दिखाई दी और न ही दिव्यांगों को आधा किराया लिया गया। खरगापुर निवासी दिव्यंाग खुमान सिंह यादव का कहना था कि बस ऑपरेटर किसी के आदेश की बात नहीं सुनते है। उन्होंने पूरा ही किराया लिया है। आधा किराया देने पर बस में से नीचे उतारने की बात की जा रही थी।
फैक्ट फाइल
जिले में कुल दिव्यांग - २२३३४
जिले में कुल बसे - ३४०
आधा किराया चुकाने के चस्पा किए निर्देश -७० बसों में
इनका कहना
दिव्यांगों को किराए में ५० प्रतिशत की छूट और उनके लिए सीट आरक्षित करने के निर्देश दिए गए है। इसके साथ ही बस स्टेण्ड और ७० बसों में दिव्यांगों की आरक्षित सीट लिखवा दी गई है। अगर बस संचालकों द्वारा दिव्यांगों को आरक्षित सीट नहीं देते है तो बस का परमिट समाप्त करने के निर्देश दिए जाएगें।
विमलेश गुप्ता आरटीओ टीकमगढ़।

akhilesh lodhi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned