शादी विवाह में जाने और बेवजह घूमने वालों को दी योग की सजा


सोमवार की सुबह ९ बजे से पुलिस झांसी रोड, अस्पताल चौराहा, अम्बेडकर तिराहा के साथ सिंधी धर्मशाला के पास तैनात हो गई थी।

By: akhilesh lodhi

Published: 18 May 2021, 09:43 PM IST


टीकमगढ़.सोमवार की सुबह ९ बजे से पुलिस झांसी रोड, अस्पताल चौराहा, अम्बेडकर तिराहा के साथ सिंधी धर्मशाला के पास तैनात हो गई थी। शादी विवाह से लौटने वालों के साथ बेवजह घूमने वालों को पुलिस ने स्वास्थ्य सुधार की सजा दी। किसी को मुर्गा बनाकर चलाया तो किसी से उठक बैठक लगाई तो किसी से पीटी करवाई तो किसी से योग कराया। यह सजा कोरोना संक्रमण को हराने के लिए दी गई।
रविवार की रात से जिले में बूंदाबांदी के साथ हल्की बारिश हुई। गर्मी के बाद ठंडक मिलने के कारण शहर के लोग चौराहों के साथ दरवाजों में हवा लेने के लिए बैठ गए थे। वहीं मोहल्ला और जान पहचान के लोग एकत्रित होने लगे। भीड़ भाड़ दिखाई देने लगी। वहीं मास्क में भी लापरवाही देखी गई। सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन ९ बजे के करीब सिंधी धर्मशाला, अस्पताल, स्टेेंट बैंक, अम्बेडकर, कलेक्ट्रेट के पास पहुंची। जहां लोग की संख्या अधिक और संक्रमण से लडऩे में उलट दिखाई दी। पुलिस ने बढी मशक्कत के बाद लोगों को हटाया। लेकिन लोग जागरूक दिखाई नहीं दिए। उसके बाद नगरपालिका के साथ पुलिस ने लापवाह लोगों को सजा देना शुरू किया। चालान काटे। उसके बाद लोगों ने अपनी जिम्मेदारी समझी और घरों की ओर गए। वहीं कई लोगों को योग के रूप में सजा दी गई।
सिंधी धर्मशाला और कलेक्ट्रेट रोड पर दी सजा
सोमवार की सुबह पुलिस ने मोर्चा संभालते ही लोगों को संक्रमण से युद्ध लडऩे की बात कही। लेकिन लोग जागरूकता नहीं दिखाई रहे थे। उसके बाद एसडीओपी कृष्णपाल सिंह, सिटी कोतवाली पुलिस, देहात पुलिस के साथ नगरपालिका के कर्मचारी मैदान में आए। उन्होंने बेवजह घूम रहे लोगों के साथ शादी विवाह के साथ अन्य स्थानों से लोगों को रोका। पुलिस ने सजा के रूप में लापरवाह लोगों से उठक बैठक लगवाई। मुर्गा बनाया, पीटी करवाने के साथ अन्य योग करवाए। उस योग से लोगों को संक्रमण से लडऩे के लिए कुछ हद तक राहत मिली।
पगडंड़ी रास्तों को किया बंद
मप्र से उप्र के लिए पगडंड़ी रास्तों को खोजा गया। अन्य प्रदेशों के लोग मप्र में ना आए पाए। उसके लिए नाके तो बनाए गए। लेकिन पगडंड़ी रास्तों से लोगों ने रास्ते बना लिए थे। उन रास्तों को पुलिस ने खोजकर बंद करवाए है। वहां पुलिस जवानों को तैनात भी किया गया है। जिसस संक्रमण की रफ्तार में कमी आ सके।
सोमवार को शहर में सख्ती असर रहा कम
ठंडक होने के कारण शहर की गलियों, मोहल्लों के साथ चौक चौराहों पर लोगोंं की भीड़ कुछ दिनों बाद आज दिखाई दी। वहीं प्रशासन का भी असर कम रहा। जिसके कारण लोग मुख्य सड़कों पर घूमते दिखाई दिए। लेकिन अभी खतरा टला नहीं है। संक्रमण की रफ्तार कम जरूर हुई है। वहीं तीसरी लहर भी शुरू हो गई है। अब लोगों को ज्यादा सर्तक होने की जरूरी है। वहीं एसडीओपी कृष्णपाल सिंह ने बताया कि क्षेत्र में संक्रमण से युद्ध लडऩे के लिए शहर के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को जागरूक किया जा रहा है। लापवाह लोगों को सजा देने के साथ चालान भी काटे जा रहे है। लोगों को स्वयं जागरूक होना बहुत जरूरी है।

सोमवार की सुबह ९ बजे से पुलिस झांसी रोड, अस्पताल चौराहा, अम्बेडकर तिराहा के साथ सिंधी धर्मशाला के पास तैनात हो गई थी।

akhilesh lodhi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned