लखौरा रोड पर लग रही दो सब्जी मंडी, लगा रहता है जाम

नगर के लखौरा रोड पर दो थोक सब्जी मंडियों का संचालन किया जाता है। जहां जिले के साथ अन्य जिलों के किसान और शहर के सब्जी मंडी व्यापारियों का जाम बना रहता है।

By: akhilesh lodhi

Published: 09 Apr 2021, 08:52 PM IST



टीकमगढ़.नगर के लखौरा रोड पर दो थोक सब्जी मंडियों का संचालन किया जाता है। जहां जिले के साथ अन्य जिलों के किसान और शहर के सब्जी मंडी व्यापारियों का जाम बना रहता है। उसी मंडी रोड पर आधा दर्जन के करीब क्रशर और अन्य काराबारों का संचालन होता है। सुबह होते ही उसी रोड से भारी वाहनों की आवाजाही भी बनी रहती है। जहां हादसों का डर बना रहता है। इन वाहनों का मंडी संचालन के दौरान बंद करने या दूसरा रास्ता बनाने की मांग को लेकर प्रशासन से शिकायत भी की है।
मऊचुंगी रोड पर कुछ वर्ष पहले सब्जी मंडी का संचालन किया जाता था। उस मंडी में जिला के साथ अन्य जिलों के किसान सब्जी लेकर बेचने के लिए आते थे। जिसके कारण मुख्य रोड पर जाम की स्थिति बनी रहती थी। जाम को हटाने के लिए लखौरा रोड पर दो सब्जी मंडिय़ों को स्थापित किया गया। लेकिन उसी रोड से भारी वाहनों की आवाजाही बनी रहती है। जहां दुर्घटनाओं का अंदेशा बना रहता है। हालांकि मंडी के अध्यक्षों ने शांति समिति के साथ अन्य बैठकों में कलेक्टर को परेशानी बताई गई। इसके बाद कोई कार्रवाई नहीं की गई है।
हजारों की संख्या में सब्जी बेचने आते है किसान
सब्जी व्यापारी बृगभान कुशवाहा गुल्लू कुशवाहा, कादर खान, असलम खान ने बताया कि लखौरा रोड पर श्रीराम सब्जी मंडी और फल सब्जी विक्रेता मंडी का संचालन किया जाता है। उन मंडियों में १० से अधिक जिलों के किसान थोक सब्जी बेचने के लिए आते है। इसके साथ ही उसी मंडी से सब्जी व्यापारी खरीदने के लिए भी आते है। लेकिन इस मंडी में डर हमेशा बना रहता है। इसी रोड पर आधा दर्जन के करीब क्रशरों का संचालन होता है। जहां से भारी वाहनों की आवाजाही बनी रहती है।
हो चुके कई हादसे
सब्जी व्यापारियों के साथ सब्जी किसानों का कहना था कि लखौरा रोड किनारे थोक सब्जी की दो मंडिय़ा लगाई जाती है। उसी रोड से सुबह होते ही गिट्टी, रेत, मिट्टी मुरम के साथ अन्य सामग्री से भरे वाहन निकलते है। उन वाहनों से कई हादसे हो चुके है। जिनमें जोने भी जा चुकी है। इसके बाद भी नगर प्रशासन के साथ जिला प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।
बीच सड़कों पर लगाई जा रही दुकानें
किसानों का कहना था कि शहर के पास सबसे पहले श्रीराम सब्जी मंडी पड़ती है। उसके बाद दूसरी फल एवं सब्जी मंडी को लगाया जाता है। दोनों मंडी सड़क के किनारे लगाई जाती है। वह सड़क सुबह से किसानों से लवालव भरी रहती है। जहां हदसों का डर बना रहता है।


कई बार कलेक्टर की बैठकों में उठा चुके सवाल
दोनों मंडिय़ों के अध्यक्षों का कहना था कि शहर में कलेक्टर और नगरप्रशासन की बैठकों में सब्जी मंडी को सुरक्षित करने के लिए कई बार सवाल उठाए गए है। बैठकों में इन सवालों को गंभीरता से लिया गया। लेकिन कार्रवाई आज तक नहीं की गई है। जिसको लेकर किसानों और सब्जी व्यापारियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
इनका कहना
फल और सब्जी की थोक मंडी को लगाने के लिए शहर में जगह नहीं दी जा रही है। लखौरा रोड पर थोक सब्जी मंडी लगाई जाती है। जिसमें १० जिलों से अधिक के किसान सब्जी बेचने और खरीदने आते है। सड़क पर मंडी लगने के कारण कई गंभीर हादसे हो चुके है। हादसों को रोकने के लिए प्रशासन को भी जानकारी दे चुके है।
हबीब राइन अध्यक्ष फल और सब्जी मंड़ी विक्रेता टीकमगढ़।

सड़कों पर सब्जी और फलों की दुकानों को लगाया जाता है। वहीं से भारी वाहनों की आवाजाही रहती है। जहां दुर्घटनाओं का अंदेशा बना रहता है। हादसा ना हो उसके लिए मंडी के पहले बैरीगेट लगाए जाए। या फिर वाहनों को कुछ समय तक रोका जाए।
लक्ष्मन कुशवाहा कार्यवाहक अध्यक्ष श्रीराम सब्जी मंडी टीकमगढ़।

akhilesh lodhi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned