पेंशनरों की निकाल रहे राशि, हितग्राही को नहीं दे रहे जानकारी

क्योस्क बैंक संचालकों की मनमानी, ऑडियों हुआ वायरल

By: Sanket Shrivastava

Published: 23 Apr 2020, 01:11 PM IST

टीकमगढ़/पृथ्वीपुर. पृथ्वीपुर क्षेत्र के दिगवारकलां गांव में स्टेंट बैंक क्यिोस्क संचालक द्वारा गरीब असहाय और विधवाओं की पेंशनरों की अनुपस्थिति में पेंशन राशि निकाली जा रही है। जिसकी जानकारी ना हितग्राहियों को दी जा रही है और ही खाता का स्टेटमेंट निकाला जा रहा है। मामले का खुलासा जब हुआ जब हितग्राहियों ने दूसरे क्यिोस्क बैंक में राशि चैक करवाई तो आने वाली पेंशन एक हफ्ता पहले दिगवारकलां क्यिोस्क बैंक से निकाल ली गई। जिसका ऑडियों वायरल किया गया है।
दिगवारकलां स्टेट बैंक क्यिोस्क में गांव के पेंशनरों का खाता खोला गया है। पेंशनरों के बैंक खातों में प्रदेश और केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस के साथ लॉकडाउन में १-१ हजार रुपए डाले गए है। लेकिन दिगवारकलां क्यिोस्क का संचालन दशरथ राजपूत द्वारा किया जाता है। संचालक के द्वारा सरजू पति गुल्ले अहिरवार के २ हजार रुपए और छक्की पुत्र रामू अहिरवार के ५ हजार रुपए निकाल लिए है। लॉकडाउन के कारण घर का राशन और जरूरत का सामान खत्म हो गया। बैंक से राशि निकलवाने के लिए पीडि़तों द्वारा करीब एक हफ्ते से चक्कर लगाते जा रहे थे। संचालक द्वारा पंचायत सचिव और रोजगार सहायक द्वारा पेंशन की राशि नहीं डालने की बात कही जा रही थी। इसके साथ ही स्टेंट मेंट निकालने के लिए कई प्रकार के बहाना बनाए जा रहे थे। पीडि़तों ने परेशान होकर पेंशन का स्टेंटमेंड दूसरे बैंक से निकलवाया। जिसमें एक हफ्ता पहले राशि को निकालने की जानकारी मिली। ऐसे ही कई मामले सिमरा भाटा, कछियाखेरा के साथ अन्य गांव में किए गए है।

Sanket Shrivastava
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned