अमृतं जलम अभियान का हुआ समापन

जिले की लाइफलाइन महेन्द्रसागर तालाब के घाटों की सफाई के साथ ही ऐतिहासिक गौघाट के कायाकल्प का संकल्प लिया गया ।

By: vivek gupta

Published: 01 Jul 2019, 01:00 AM IST

टीकमगढ़..जल संरक्षण एवं प्राचीन जलसंरचनाओं के रखरखाव, जीर्णोद्धार के लिए पत्रिका द्वारा विगत २६ मई से चलाए गए अमृतम जलम अभियान का रविवार ३० जून को विधिवत समापन हो गया। इस अभियान के दौरान सामाजिक सरोकार से जुड़े इस मुद्दे को कई लोगों और संगठनों के बीच रखा गया। जल संरक्षण के बारे में बताया तो लोगों में जागरूकता आई और पत्रिका का यह अभियान एक जन आंदोलन बन गया।

पत्रिका द्वारा जनभागीदारी से अमृतं जलम अभियान के तहत जिले की लाइफलाइन महेन्द्रसागर तालाब के घाटों की सफाई के साथ ही ऐतिहासिक गौघाट के कायाकल्प का संकल्प लिया गया । अभियान में जनता, प्रशासन, महिला समाजसेवियो के श्रमदान से आखिरकार एक माह में ही यहां की तस्वीर बदल गई


२६ मई से पत्रिका द्वारा प्रारंभ किए गए अमृतं जलम अभियान का रविवार सुबह ७ बजे समापन हो गया। समापन के साक्षी बने लोगों ने एक बार फिर जल संरक्षण का संकल्प लिया। पत्रिका का उद्देश्य केवल एक अभियान चलाना ही नहीं था बल्कि इस अभियान से हर वर्ग को जोडऩा लक्ष्य था। जिसमें हमें सफलता मिली और लोगों ने बढ़ चढ़कर इस अभियान को अपना समर्थन दिया।

 

समापन के अवसर पर मौजूद समाजसेवियो ने पत्रिका को इस अभियान के लिए बधाई दी। लायंस क्लब अध्यक्ष,अन्नम रक्षाम समिति की अध्यक्ष एवं वी क्लब उन्नति की संरक्षक पूनम जायसवाल ने कहा और जलसंरक्षण के लिए सभी मिलकर प्रयास करें। टीकमगढ़ अल्प वर्षा वाला जिला है ,यहां जलसंरक्षण अतिआवश्यक है। 800 से अधिक चंदेलकालीन तालाब हैं।

इन प्राचीन जलसंरचनाओं को संवारने के लिए महाअभियान छेडऩे की आवश्यकता है। युवा मंच के प्रदेश अध्यक्ष अभय प्रताप सिंह यादव ने कहा कि प्रकृति से छेड़छाड के कारण वर्षा का क्रम बाधित हुआ है। लोगों ने पहाड़ काटे, जंगल काटे जिसके कारण बारिश असंतुलित हुई। इसी के चलते सूखे के हालात बने हैं। पत्रिका के इस अभियान से समाज में जागरूकता आई है।

अपने जिले में वाटर लेविल 200 फिट के नीचे है यह चिंता का विषय है। नगर की लाइफलाइन मंहेन्द्रसागर से नगर के बडे हिस्से का जलस्तर बना रहता है। यहां आने वालों को साबुन, पॉलीथिन पूजा की सामग्री जलश्रोत में विसर्जित नहीं करना चाहिए।

 

कलेक्टर और विधायक ने दिए है आश्वासन
पत्रिका द्वारा अमृतं जलम अभियान के तहत महेन्द्रसागर तालाब के साथ ही गौघाट के रखरखाव एवं साफसफाई के लिए चलाए गए अभियान से प्रेरित होकर विधायक राकेश गिरी ने जिले की लाइफलाइन महेन्द्रसागर तालाब के साथ ही ऐतिहासिक वृंदावन तालाब का जीणोद्वार की बात कही थी। उन्होंने बताया था कि ८ करोड़ से अधिक राशि की योजना बनाकर शासन को भेजी गई है।

जिसे स्वीकृत करवाकर दोनो तालाबो में १२ माह पानी भरा रहने की पहल की जाएगी। जिससे तालाबो पर सौंदर्यकरण के साथ ही वोटिंग भी की जा सकेगी। टीकमगढ़ विधायक राकेश गिरी ने पत्रिका के अमृतम जलम अभियान में २ जून को श्रमदान किया था ।

वहीं कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन ने २६ मई को अभियान का शुभारंभ करके श्रमदान किया था। कलेक्टर ने आश्वासन दिया था कि महेन्द्रसागर तालाब को पूरी तरह से नया जीवन देने के लिए जल संसाधन,सिंचाई और नगरपालिका के साथ विस्तृत सर्वे किया जाएगा। प्राकृतिक श्रोत को अतिक्रमण से मुक्त कराने अभियान चलाया जाएगा।

 

सर्वे के दौरान यह देखा जाएगा कि तालाब के कैचमेंट एरिया में किस तरह की बाधा आ रही है। इसके साथ ही बायपास का भी एक बार फिर सर्वे किया जाएगा,जिसमें देखा जाएगा कि सड़क निर्माण के कारण पर्यावरण को क्या नुकसान हो रहा है। आवश्यकता होने पर बायपास निर्माण में परिवर्तन कर तालाब तक आने वाले पानी की व्यवस्था की जाएगी।


गौघाट की बदली तस्वीर
राजशाही दौर में महेंद्र सागर तालाब के निर्माण के समय स्लूज के पास ही गौघाट का निर्माण किया गया था। ताकि नहर से पानी निकलते समय इस गौघाट में पानी भर जाए और यहां पर मवेशी अपनी प्यास बुझा सकें। इस गौघाट पर जलकुंभी के कारण पानी की जगह केवल हरी घास नजर आती थी। लेकिन श्रमदानियो के सहयोग से करीब ६ ट्राली जलकु भी निकालकर निर्मल जल निकाला गया।वर्तमान में तालाब में पर्याप्त पानी न होने के कारण इस गौघाट में पानी नही आ पा रहा हैं।

वहीं गौघाट से नहर का निकासी का मार्ग पूरी तरह से बंद हैं। जबकि निकासी मार्ग की और पेयजल की टंकी का ओवर फ्लो पाइप लगा हुआ हैं, जिससे 24 घंटे पानी निकलता रहता हैं। यदि प्रशासन इस निकासी द्वारा को साफ करा दें और इस ओवर फ्लो पानी को गौघाट की ओर मोड़ दें तो यहां पर प्रतिदिन साफ-स्वच्छ पानी आता रहेगा और जानवरों की प्यास आसानी से बुझती रहेगी।

vivek gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned