रूपए तो दूर, एटीएम की स्क्रीन भी गोल

Anil Kumar Rawat

Publish: May, 23 2019 08:00:00 AM (IST)

Tikamgarh, Tikamgarh, Madhya Pradesh, India

टीकमगढ़. इन दिनों नगर के एटीएमों के हाल बेहाल बने हुए है। आलम यह है कि एटीएम में रूपए न होना आम बात हो गया है। बुधवार की सुबह से ही नगर के मुख्य बाजार के पांच एटीएम खाली थे। इनमें से 3 की तो स्क्रीन ही गायब थी। नगर के खस्ताहाल हो रहे एटीएम को लेकर बैंक प्रबंधन ने संबंधित एजेंसी से इन्हें दुरूस्त कराने की बात कहीं थी, लेकिन हालत और खराब होती जा रही है।


एक ओर सरकार लोगों से कैशलैस ट्रांजेक्शन करने की उम्मीद कर रही है, तो दूसरी ओर बैंक की एटीएम व्यवस्थाएं गड़बड़ा रही है। पिछले एक माह से नगर के अनेक एटीएम बेहाल बने हुए है। बुधवार की सुबह से ही नगर के अधिकांश एटीएम कैशलैस रहे। मुख्य बाजार में स्थित रेंज ऑफिस के पास का एटीएम, जामा मस्जिद के पास का एटीएम, सैलसागर चौराहे का एटीम, कोतवाली के पास लगा एटीएम, एसबीआई की मुख्य ब्रांच के एटीएम के साथ ही पुरानी नगर पालिका के पास लगे एटीएम से रूपए नही निकल रहे थे।

 

तीन की बत्तीगुल: इन एटीएम में भी रेंज के पास के एटीएम, जामा मस्जिद के पास के एटीएम और सैलसागर चौराहे के पास के एटीएम की तो बत्ती ही गुल थी। यहां पर स्क्रीन में कुछ भी नही आ रहा था। विदित हो कि रेंज ऑफिस और जामा मस्जिद के पास के एटीएम में तो लगभग तीन माह से लाइट ही नही है और रात के समय लोगों को यहां पर अपने मोबाइल की लाइट में ट्रांजेक्शन करना पड़ता है।


एजेंसी की लापरवही: इस संबंध में लगभग एक पखवाड़ा पूर्व एसबीआई के महाप्रबंधक से बात की गई थी। उस समय उन्होंने कहा था कि यह काम आउट सोर्स एजेंसी के द्वारा कराया जाता है। इन एटीएम का मेंटिनेंश उन्हीं ेके पास होता है। इसके लिए उन्होंने आउट सोर्स एजेंसी से व्यवस्थाएं सुधरवाने की बात कहीं थी। लेकिन व्यवस्थाएं है कि और बिगड़ती जा रही है।


बंद कर दें एटीएम: बुधवार की शाम 4 बजे के लगभग सिविल लाइन स्थित एटीएम में रूपए निकालने पहुंचे व्यापारी पवन जैन का कहना था कि इससे अच्छा है कि बैंक यह एटीएम बंद ही कर दें। उनका कहना था कि वह बसस्टैंड से लेकर सारे एटीएम देख आए है। लेकिन किसी में से रूपए नही निकल रहे है। वहीं लक्ष्मीनारायण बिदुआ का भी कहना था कि वह सुबह से सब्जी लेने गए थे। सोचा था कि बाजार के एटीएम से रूपए निकाल लेंगे। लेकिन परेशान हो गए। कहीं से भी रूपए नही निकले।


पैसा पूरा, सेवाएं नदारद: विदित हो कि एटीएम की सेवा के लिए बैंक द्वारा ग्राहकों से हर माह निश्चित राशि ली जाती है। यह पैसा हर माह बैंक बिना कुछ बताएं खाते से काट लेता है। लेकिन सुविधा के एवज में ली जाने वाली इस राशि के हिसाब से एटीएम से कोई सुविधा नही मिल रही है। ऐसे में लोग परेशान हो रहे है और बैंक प्रबंधन का इस पर कोई ध्यान नही है।


कहते है अधिकारी: एजेंसी को एटीएम में रूपए डालने सुबह 11 बजे कैश दिया गया था। नगर में 17 एटीएम है, इसमें समय लगता है। जो एटीएम खराब बताए जा रहे है, उसके लिए एजेंसी को फिर से बताया जाएगा। जल्द ही व्यवस्थाएं दुरूस्त कराई जाएंगी।- एसपी झां, महाप्रबंधक, एसबीआई।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned