जनसुनवाई में कलेक्टर नेे चलाया बेटी बचाव-बेटी पढ़ाओ अभियान,हाथ में लगाई सील

जनसुनवाई में कलेक्टर नेे चलाया बेटी बचाव-बेटी पढ़ाओ अभियान,हाथ में लगाई सील

Samved Jain | Publish: Mar, 14 2018 11:46:47 AM (IST) Tikamgarh, Madhya Pradesh, India

पंचायत सभागार में मंगलवार को जनसुनवाई की गई। जिमसें जिले के सभी विभागों के विभाग प्रमुख शिकायतकर्ताओं की समस्याओं को सुनने के पहुंचे।

टीकमगढ़.पंचायत सभागार में मंगलवार को जनसुनवाई की गई। जिमसें जिले के सभी विभागों के विभाग प्रमुख शिकायतकर्ताओं की समस्याओं को सुनने के पहुंचे। जनसुनवाई में आए शिकायतकर्ताओं के हाथ पर कलेक्टर अभिजीत अग्रवाल द्वारा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं अभियान की सील लगाई गई। वहीं जनसुनवाई के दौरान शिकायतकर्ता पानी के लिए यहां-वहां घूमते रहे,लेकिन प्यास बुझाने के लिए जनसुनवाई में प्रशासन द्वारा कोई व्यवस्था नहीं की गई।
मंगलवार को जिला पंचायत सभागार में आयोजित जनसुनवाई में कई शिकायतकर्ता पहली बार शिकायत करने पहुंचे तो कई छह बार शिकायत कर चुके है। लेकिन उनकी शिकायत का आज समाधान नहीं किया गया। जनसुनवाई में कलेक्टर को शिकायत देने पहुंचे देवेंद्र नायक ने आंखों में आंसू झलकते हुए कहा कि नगरपालिका द्वारा मुझे वेतन 4400 रूपए दी जाती है। वेतन बनाने के लिए सीएमओ अधिकारी ने लेखापाल के लिए पत्र लिखा है। लेकिन नगरपालिका के लेखापाल और अन्य लोगों द्वारा करीब 4 माह से वेतन नहीं दी गई। वेतन नहीं मिलने के क ारण परिवार का भरण पोषण करने में परेशानियों का सामना क रना पड़ रहा है।

शिकायतकर्ताओं के हाथों पर सील लगाकर चलाया अभियान


जनसुनवाई में जिले के से शिकायत करने पहुंचे शिकायतकर्ताओं के हाथ पर दरवाजे के पास बैठे पुलिस जवानों द्वारा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की सील लगाई गई। वहीं जनसुनवाई सभागार में कलेक्टर ने कर्मचारियों सहित शिकायतकर्ताओं के हाथों पर सील लगाकर उनकी समस्याएं सुनी। इसके ही बेटी को बचाने और पढ़ाने का संदेश दिया।


मकान खाली करने दबंगों द्वारा दी जा रही धमकी
डाबर सकुली शिवरामपुर निवासी धबल अहिरवार,प्रकाश रजक, सियाराम अहिरवार, सुखलाल अहिरवार ने बताया कि 50 वर्ष पहले आवासीय भूमि पर रहने के लिए मकान बनाया गया था। कुछ महीने पहले गांव के दबंगों द्वारा मकान और जमीन छोडऩे की बात कर धमकी दी जा रही है। जिसको लेकर क्षेत्रीय तहसील कार्यालय सहित पुलिस से शिकायत की गई थी। वहीं वार्ड 26 के खाई मोहल्ला के हरनारायण उर्फ हन्नू रजक के रकवा 1167 के 354 वर्गफुट जमीन पर छल कपट के चलते नामांतरण कर लिया है। मामले को लेकर पीडि़त द्वारा शिकायत की गई। लेकिन मामले को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की गई है।


समिति नहीं दे रही खाद्यान्न,आंगनवाड़ी केंद्र में नहीं बट पा रहा भोजन
कलेक्टर को दी शिकायत में पीडि़त लक्ष्मनपुरा निवासी ऊदल लोधी ने बताया कि गांव के आंगनवाड़ी केंद्र में सरस्वती स्व सहायता समूह द्वारा नाश्ता और भोजन का वितरण किया जाता है। लेकिन बहुउद्देशीय सहकारी समिति मर्यादित नन्हीटेहरी लक्ष्मनपुरा द्वारा दिसम्बर 2016 से समूह को खाद्यान्न नहीं दिया गया। समूह संचालक द्वारा दिसम्बर 2016 से मार्च 2018 तक खाद्यान्न नहीं दिया गया। जिसके कारण आंगनवाड़ी केंद्र में नौनिहालों को नाश्ता और भोजन का वितरण नहीं किया जा रहा है। समूह का खाद्यान्न दिलाने के लिए पंचायत से लेकर खाद्य विभाग में शिकायत कर चुके है। लेकिन मामले को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की गई है।


मजदूरी का भुगतान नहीं कर रही ग्राम पंचायत
भगतनगर निवासी भगवान दास अहिरवार ने कलेक्टर को दी शिकायत में कहा कि समीपस्थ ग्राम पंचायत अनंतपुरा में सीसी सड़क निर्माण किया गया था। मस्टरोल के अनुसार करीब 11 हजार रूपए की मजदूरी की गई थी। मजदूरी की राशि दिलाने की मांग सरपंच और सचिव द्वारा कई बार की गई। इसके साथ ही जनपद पंचायत अधिकारी ने शिकायत की गई। लेकिन मामले को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की गई। मजदूरी का भुगतान कराए जाने को लेकर कलेक्टर गुहार लगाई है।


ग्रामीणों ने आंदोलन कर की अधिकारों की मांग
जनसुनवाई में ग्रामीणों द्वारा अपनी मांगों को लेकर मांगों को लेकर कलेक्टर को ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन में कहा कि राष्ट्रीय आवासीय भूमि अधिकार कानून की घोषणा ,राष्ट्रीय महिला कृषक हलदारी की घोषणा, राष्ट्रीय भूमि सुधार नीति की घोषणा, भारत सरकार द्वारा पूर्व में गठित क राष्ट्रीय भूमि सुधार परिषद और राष्ट्रीय भूमि सुधार का कार्यबल सक्रिय करना के साथवनाधिकार कानू आर पंचायत अधिनियम के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए राष्ट्रीय प्रांमीय स्तर पर निगरानी तंत्र की स्थापना करने के लिए राष्ट्रपति के नाम कलेक्टर को ज्ञापन दिया है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned