scriptगोरा पहाड पर की जा रही ब्लास्टिंग | Patrika News
टीकमगढ़

गोरा पहाड पर की जा रही ब्लास्टिंग

जतारा पहाडी पर की जा रही ब्लास्टिंग

टीकमगढ़Jun 12, 2024 / 11:26 am

akhilesh lodhi

जतारा पहाडी पर की जा रही ब्लास्टिंग

जतारा पहाडी पर की जा रही ब्लास्टिंग

गौरैयां मंदिर में जाने वाले दर्शनार्थियों के साथ हो सकता है हादसा

टीकमगढ़. जतारा नगर के नजदीक मदन सागर तालाब की पहाडी पर गौरैंया माता मंदिर हैं। वहां पर प्रतिदिन सुबह और शाम को दर्शनार्थियों का माता के दर्शन के लिए आना जाना बना रहता हैं। वहीं पहाड से गोरा पत्थर को निकालने के लिए ब्लास्टिंग की जा रही हैं। जहां पर दर्शनार्थियों के साथ कोई बड़ा हादसा हो सकता हैं।
ऐतिहासिक प्राचीन गौरैया मंदिर गोरा पत्थर पहाड पर स्थित हैं। यहां से पत्थर निकालने के लिए लगातार खनन किया जा रहा हैं। इसके साथ ही ब्लास्टिंग की जा रही हैं। कुछ ही दूरी पर छात्रावास और स्कूल संचालित हैं। जिसके पत्थर स्कूलों की छत्रों पर गिरते देखे गए हैं। सुबह और शाम गौरैया माता के दर्शन करने के लिए दर्शनार्थियों का आना जाना बना रहता हैं। जहां पर हादसों का डर बना रहता हैं। जबकि पूर्व में स्थानीय लोगों ने खनिज विभाग और राजस्व विभाग से शिकायत क ी थी, लेकिन मामले में कोई कार्रवाई नहीं की गई हैं।
असुरक्षित महसूस कर रहे स्थानीय, ब्लास्टिंग के गिर रहे पत्थर
स्थानीय लोगों का कहना था कि जतारा नगर के मदन सागर तालाब के पास गौरैया पहाड़ पर ऐतिहासिक तिल गौरैया माता का प्राचीन मंदिर हंै, जहां पर प्रतिदिन सैकड़ों श्रद्धालुओं का आना जाना लगा रहता हैं। यहां पर स्कूल भी संचालित हो रहे हैं, और यहां पर स्कूल परिसर में भी हैवी ब्लास्टिंग के पत्थर छतों पर गिर रहे हैं। जिससे छात्राओं को भी खतरा बना हुआ हैं। अंतरराष्ट्रीय मानव अधिकार सुरक्षा संगठन रामरतन दीक्षित ने इस मामले को लेकर कलेक्टर और मुख्यमंत्री के नाम एक पत्र भेजा हंै और पहाड खनन को रोकने और ऐतिहासिक पहाड़ी को बचाने की मांग की गई हैं।

मामले की जांच कराते हैं और जांच के बाद शासन स्तर पर जांच प्रतिवेदन भेजा जाएगा। उसके बाद कार्रवाई की जाएगी।
कुलदीप सिंह ठाकुर, तहसीलदार जतारा।

Hindi News/ Tikamgarh / गोरा पहाड पर की जा रही ब्लास्टिंग

ट्रेंडिंग वीडियो