बसों में बैठा रहे दोगुनी सवारी, मालिका ने मना किया तो दर्ज कराया केस

बस ऑपरेटर्स ने कलेक्टर ने सौंपा ज्ञापन, मामला वापस लेने की मांग

By: anil rawat

Updated: 16 May 2020, 10:59 PM IST

टीकमगढ़. बसों में मजदूरों को बैठाने को लेकर अधिकारियों से नियमों का पालन करने की बात कहना बस ऑपरेटर्स को महंगा पड़ गया। अधिकारियों ने उनके खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज करा दिया है। परेशान बस ऑपरेटर्स ने शुक्रवार को इसके खिलाफ कलेक्टर को आवेदन देकर मामला वापस लेने की मांग की है। कलेक्टर ने बस ऑपरेटर्स को जांच के बाद मामला वापस लेने का आश्वासन दिया है।


शुक्रवार को बस ऑपरेटर्स एसोसिएशन ने कलेक्टर हर्षिका सिंह को आवेदन सौंपा। इस आवेदन में बताया गया है कि प्रशासन द्वारा मजदूरों को भेजने के लिए बसों का अधिग्रहण किया गया है। बुधवार की रात को ट्रेन से आए मजदूरों को इन बसों से अपने गंतव्य तक भेजा जा रहा था। बसों में क्षमता से अधिक सवारियां भरने पर कुछ बस चालकों ने आपत्ति दर्ज की थी। बसों में 70 से 80 मजदूरों को बैठाया जा रहा था। इससे सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं हो रहा था और यह मजदूर बसों में ड्राइवर केबिन में इंजन के वोनट पर भी बैठ रहे थे।

 

 

चालकों द्वारा की गई आपत्ति के बाद यहां पर उपस्थित तहसीलदार एवं एसडीएम द्वारा इन्हें बसें जब्त करने एवं परमिट निरस्त करने की धमकी दी जा रही थी। इस पर कुछ बस मालिकों को भी मौके पर बुलाया गया था। मौके पर पहुंचे बस मालिकों ने जब क्षमता से अधिक सवारियों को बसों में देखा तो उन्होंने भी आपत्ति दर्ज की। इसके बाद एसडीएम एवं तहसीलदार द्वारा उनके साथ भी बदसलूकी की और धमकी दी कि यदि बसें नहीं भेजी तो रजिस्ट्रेशन रद्द करा देंगे।


वापस ली जाए एफआइआर: बस ऑपरेटर्स का कहना है कि इसके बाद भी अधिकारियों ने बस ऑपरेटर दीपक मिश्रा के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई है। बस ऑपरेटर्स ने इसे वापस लेने की मांग की है। साथ ही बस ऑपरेटर्स का कहना था कि यदि इस प्रकार का व्यवहार किया जाएगा तो वह अपनी सेवाएं नहीं दे पाएंगे। उनका कहना था कि वह लोग भी इस संकट की घड़ी में हर संभव मदद कर रहे है। बस ऑपरेटर्स की मांग पर कलेक्टर ने उन्हें एसपी से मिलने एवं इस मामले का निराकरण कराने का आश्वासन दिया है। ज्ञापन देने वालों में यूनियन के अध्यक्ष प्रदुम्न सिंह सोलंकी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रणव जयसवाल, शेख बशीर, दलजीत सिंह, गजेन्द्र चौधरी, अनीस अहमद, रमेश तिवारी, वीरू गुप्ता, श्रीराम मिश्रा सहित अनेक बस ऑपरेटर्स शामिल रहे।

anil rawat Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned