कमाने वाला खाएगा, लूटने वाला जाएगा, नया जमाना आएगा

बड़ी घोषणाओं के इंतजार में बैठे रहे लोग, पुरानी उपलब्धियां बताकर चले गए मुख्यमंत्री

By: vivek gupta

Published: 07 Jun 2018, 01:57 PM IST

टीकमगढ़ .कमाने वाला खाएगा, लूटने वाला जाएगा। नया जमाना आएगा, इस नारे के साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हाथों में हाथ लेकर जनता से उनका साथ देने की अपील की।

जिले के बडागांव धसान के अंतौरा गांव नारायणदास खरे स्टेडियम में तेंदूपत्ता संग्राहक और असंगठित श्रमिक सम्मेलन में पहुंचे मुख्यमंत्री ने लोगों को प्रदेश में नई क्रांति और नए जमाने का भरोसा दिलाया। उन्होंने बिजली के बिल माफ करने और मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना के तहत मेहनत करने वालों को जन्म से लेकर अंतिम समय तक दिए जाने वाले लाभ की घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने अपने चिरपरिचित स्वभाव के चलते सरकार की योजनाओं का बखान करते हुए जनता से सीधा संवाद किया। इस दौरान उन्होंने किसी भी तरह नई घोषणा मंच से नहीं की। उन्होंने राहुल गांधी के मंदसौर पहुंचने और किसानों से मिलने को कांग्रेस के घडिय़ाली आंसू बहाना बताया।
मुख्यमंत्री निर्धारित समय से लगभग एक घंटे देरी से कार्यक्रम स्थल पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने करीब 120 करोड़ 90 लाख लागत के निर्माण कार्यों का शिलान्यास एवं भूमिपूजन कार्यक्रम स्थल से किया।
नई क्रांति और नया जमाना लेकर आया हूूं: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने अंदाज में मंच से संबोधन करते हुए अपनी हर बात के समर्थन में जनता की राय ली। उनका कहना था कि यह गरीबों का मेला है और उनकी जिंदगी बदलने वह यहां आए हैं। मुख्यमंत्री ने गरीबी मिटाने के लिए अमीरों से लेकर गरीबों में बांटने की परंपरा को गलत बताते

हुए अपने अंदाज में अमीरों से टेक्स लेकर गरीबों को सस्ते में सुविधाएं देने की अपनी मंशा बताई। उन्होंने प्रदेश सरकार के द्वारा एक रूपए में राशन के साथ प्रधानमंत्री आवास, लाड़ली लक्ष्मी योजना, मुख्यमंत्री कन्यादान योजना की उपलब्धियां बताईं। मुख्यमंत्री का कहना था कि वह आज मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना लेकर आए हैं जिसमें ढाई एकड़ से कम जमीन वाले किसान और

इनकम टेक्स न देने वाले लोगों को शामिल करते हुए सभी मेहनत करने वालों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा। जिसके लिए केवल खुद के शपथ पत्र देने से ही उसे लाभ मिलेगा। जिले में अब तक 3 लाख 77 हजार लोगों को योजना में शामिल करने की बात कही।
हर गरीब को मिलेगा पट्टा: मुख्यमंत्री ने कहा कि योजना के तहत 13 जून को सभी जनपदों में शिविर लगाकर

 

भूमिहीन लोगों को पट्टे दिए जाएंगे। जबकि जिनके पक्के मकान नहीं है प्रदेश में ऐसे 40 लाख लोगों को प्रत्येक साल 10 लाख आवास देने के साथ चार साल में सभी को घर का मालिक बना दिया जाएगा। मजदूरों को बीमारी के लिए भी सरकारी अस्पतालों में नि:शुल्क इलाज दिया जाएगा।
बच्चों की स्कूल से कॉलेज तक की फीस देंगे: मुख्यमंत्री ने कहा कि योजना के तहत ऐसे परिवारों के बच्चों को स्कूली शिक्षा से लेकर मेडीकल एवं इंजीनियरिंग तक की फीस सरकार देगी। इस साल जुलाई से ही इस पर अमल किया जाएगा।


प्रसूता महिलाओं को तीन माह मिलेंगे चार हजार: योजना के तहत प्रसूता महिलाओं को छह माह से 9 माह तक चार हजार रूपए प्रतिमाह दिए जाएंगे। यह पैसा महिलाओं एवं बच्चों को पोषण प्रदान करने के लिए प्रदान किया जाएगा। इसके साथ ही बच्चा होने पर 12 हजार रूपए उत्सव के लिए दिए जाएंगे।


शिविर लगाकर होंगे बिजली बिल माफ: मुख्यमंत्री ने जनता से पूछा कि बिजली के बिल का क्या करें, जनता की ओर से माफ करने की आवाज आने पर मुख्यमंत्री ने सभी बिजली बिल माफ करने की घोषणा की। उन्होंने 200 रूपए में बिजली देने की घोषणा करते हुए सरकार पर 3 हजार करोड़ बिजली कंपनी को किसानों के हित में चुकाने की बात कही। यह शिविर आगामी जुलाई एवं अगस्त लगाकर इन बिलों का निराकरण किया जाएगा।
योजना के तहत मिलेगा स्मार्ट कार्ड: मुख्यमंत्री ने कहा कि योजना के तहत सभी पात्र परिवारों को स्मार्ट कार्ड उपलब्ध कराया जाएगा। 1 अप्रैल से पंजीयन होने के बाद गांव-गांव में 5 लोगों की समिति ऐसे परिवारों का चयन करेगी। 13 जून को पट्टा वितरण होगा कार्ड के माध्यम से ही कॉलेजों में बच्चों को प्रवेश दिया जाएगा।


कांगे्रस बहा रही घडिय़ाली आंसू: पत्रकारों से बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के मंदसौर आकर किसान राग अलापने पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कांग्रेस घडिय़ाली आंसू बहा रही है। कांग्रेस की सरकार में मुल्ताई में गोली कांड में मारे गए 21 किसानों को भूलकर कांग्रेस प्रदेश में हिंसा फैलाना चाहती है। उनकी सरकार ने किसानों को पिछले वर्ष के गेहूं की राशि दी है, चना, प्याज, मसूर खरीदा। जिले में भावांतर 78 करोड़, सूखे में 144 करोड़ और आने वाली 10 जून को 22 करोड़ 14 लाख की राशि किसानों को दी जाएगी। प्रदेश में ब्यूरोक्रेसी हॉवी होने पर मुख्यमंत्री ने कांग्रेस के समय से कम बताया।


एडीएम हुए नतमस्तक: स्वागत के दौरान जहां अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को फूल देकर सिर झुकाया वहीं अपर कलेक्टर एसके अहिरवार ने पांव छूकर मुख्यमंत्री से आर्शीवाद लिया। एक प्रशासनिक अधिकारी के मुख्यमंत्री के सामने इस प्रकार झुकने को लेकर लोगों में अच्छी खासी उत्सुकता रही। कुछ ने इसे महत्वाकांक्षा की पूर्ति का रास्ता बताया तो कुछ ने सीधे श्रद्धाभाव दिखाने की बात कही।

यह रहे मौजूद: कार्यक्रम में प्रभारी मंत्री रूस्तम सिंह, भाजपा जिला अध्यक्ष अभय यादव, पूर्व बीडीए अध्यक्ष सुरेन्द्र प्रताप सिंह, जिपं अध्यक्ष पर्वतलाल अहिरवार, राहुल सिंह, नपा अध्यक्ष लक्ष्मी गिरि, पूर्व नपा अध्यक्ष राकेश गिरि, सुरेन्द्र सिंह राठौर, नंदकिशोर नापित, पूर्व भाजपा जिला अध्यक्ष अशोक गोइल, सागर कमिश्नर अशोक अवस्थी, आईजी सतीश सक्सेना, कलेक्टर अभिजीत अग्रवाल, एसपी कुमार प्रतीक, जिपं सीईओ बिदिशा मुखर्जी सहित प्रशासनिक अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे।
झलकियां
1. तेंदूपत्ता संग्राहकों को मुख्यमंत्री ने सामान दिया तो एक महिला को अपने हाथों से चप्पल पहनाई।
2. सभा स्थल के साथ ही मुख्यमंत्री का उडऩखटोला देखने के लिए तेज धूप में भी लोग खड़े रहे।
3. तेज उमस और गर्मी के बीच पंडाल में जगह कम होने से लोगों ने स्टेडियम की छतों और पेड़ों पर बैठकर मुख्यमंत्री को सुना।
4. विधायक की मांग पर उन्होंने किसानों को राशि देने को लेकर अन्य कार्यों के लिए धन की कमी बताकर अन्य मांगों का परीक्षण कराने की बात कही।
5. मंच पर जगह न मिलने के कारण कई नेता विधायक को कोसते नजर आए, लेकिन किसी ने भी विरोध दर्ज नहीं कराया।
6. कार्यक्रम में आंगनवाड़ी सहायिकाओं ने मुख्यमंत्री को मंच पर जाकर आभार पत्र दिया।
7. मुख्यमंत्री ने मंच के किनारे बैठे भाजपा नेताओं के साथ ही अन्य पार्टी के कार्यकर्ताओं से भी बात की।
8. कार्यक्रम में अपेक्षा से अधिक भीड़ होने के साथ ही महिलाओं की उपस्थिति सबसे अधिक रही।
9. विधायक की मांग पर मुख्यमंत्री चौहान ने दोनों शहीदों की प्रतिमाएं लगवाने का आश्वासन दिया।

vivek gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned