scriptपत्रिका के अमृतम् जलम् अभियान में कॉलेज के छात्रों ने लिया भाग | Patrika News
टीकमगढ़

पत्रिका के अमृतम् जलम् अभियान में कॉलेज के छात्रों ने लिया भाग

टीकमगढ़ महेंद्र सागर तालाब के घाट।

टीकमगढ़Jun 12, 2024 / 11:23 am

akhilesh lodhi

टीकमगढ़ महेंद्र सागर तालाब के घाट।

महेंद्र सागर तालाब के घाट पर लगाई झाडू, कचरे को किया एकत्र

टीकमगढ़.पत्रिका की ओर से चलाए जा रहे अमृतम जलम् अभियान के तहत मंगलवार को महेंद्र सागर तालाब के घाट पर कॉलेज के छात्रों ने श्रमदान किया। इस अभियान में एनसीसी और एनएसएस के छात्र-छात्राओं ने बढ़ चढक़र भाग लिया। करीब आधा घंटे श्रमदान के बाद घाट पर निखार आया। उन्होंने कहा कि संकल्प लेने से काम नहीं चलेगा, इस पर अमल करना भी जरूरी है। वहीं एनसीसी और एनएसएस प्रभारी ने कहा कि पत्रिका के अभियान से प्रेरित होकर श्रमदान के लिए आगे आए हैं।
कॉलेज प्रोफेसर और एनसीसी प्रभारी डॉ व्हीएस शाक्य ने बताया कि पानी की हर एक बूंद किसी अमृत से कम नहीं है। ये प्रकृति की अमूल्य धरोहर मानव जीवन सहित संपूर्ण सृष्टि के संचालन और उसके पालन में अहम भूमिका निभाती हैं। इसे बचाने और भविष्य के लिए सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी हम सबकी हैं। ये बाते पत्रिका अमृतम् जलम् अभियान के तहत महेंद्र सागर तालाब को संवारने आए छात्र-छात्राओं के साथ प्रोफेसरों ने जल संरक्षण का संदेश देते हुए कॉलेज छात्र आलोक पस्तोर, सुमित, अभिजीत यादव और मनोज वाल्मिकी ने कही।
इनका कहना
जिले में वर्ष २०१६ से पत्रिका द्वारा जल संरक्षण के लिए अमृतम् जलम् अभियान चलाया जा रहा हैं। सबसे पहले जमडार नदी और फिर गौघाट पर चलाया था। उससे प्रेरित होकर आज मंगलवार को छात्रों के साथ महेंद्र सागर तालाब पर आए हैं। छात्रों के साथ घाटों की साफ-सफाई की और पानी संरक्षण को लेकर संकल्प लिया।
प्रोफेसर डॉ. व्हीएस शाक्य, एनसीसी प्रभारी लीड कॉलेज टीकमगढ़।
पानी बचाव को लेकर पत्रिका ने अहम अभियान चलाया हैं। लोगों को जोडक़र जल संरक्षण को लेकर श्रमदान किए हैं। आज एनएसएस के छात्रों सहित अमृतम् जलम् अभियान के बैनी तले तालाब के घाटों की सफाई की हैं।
डॉ. मुकेश अहिरवार, एनएसएस प्रभारी कॉलेज लीड टीकमगढ़।
पत्रिका के अमृतम् जलम् अभियान में शामिल हुई और तालाब को संवारने के लिए आगे आए हैं। इसी तरह सभी लोगों को आगे आना चाहिए। इससे जल संरक्षण से पेयजल संकट का सामना नहीं करना पड़ेगा।
रौनक पाल कॉलेज छात्रा।
इस पहल से लोगों में जागरूकता आई हैं। एनएसएस अपने स्तर पर नदी, तालाब संरक्षण को लेकर पहल करेगा। तालाबों के घाटों की साफ -सफाई करने एक जुट होकर छात्र कार्य करेंगे।
अंशिका जैन कॉलेज छात्रा ।
महेंद्र सागर तालाब किनारे मंदिर के पास घाटों की सभी छात्रों ने झाडू उठाकर साफ-सफाई की हैं। कचरे के ढेर एक जगह लगाए हैं।
वीरेंद्र प्रजापति एनसीसी छात्र।

पत्रिका की पहल और लोगों के साथ का ही नतीजा है कि जो घाट कचरे से भरा हुआ था, आज स्वच्छ नजर आ रहा हैं। एक सप्ताह में घाटों की सफाई करना चाहिए। जिससे तालाब का पानी स्वच्छ और साफ बना रहें।
आदित्य यादव कॉलेज छात्र
यह अभियान लोगों के लिए प्रेरणादायक रहा। लोगों को अभियान से जागरूक होना चाहिए इसकी शुरूआत हम अपने घर से कर सकते है।
भरत राय कॉलेज छात्र

कॉलेज प्रोफेसर और एनसीसी प्रभारी डॉ व्हीएस शाक्य ने बताया कि पानी की हर एक बूंद किसी अमृत से कम नहीं है। ये प्रकृति की अमूल्य धरोहर मानव जीवन सहित संपूर्ण सृष्टि के संचालन और उसके पालन में अहम भूमिका निभाती हैं। इसे बचाने और भविष्य के लिए सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी हम सबकी हैं। ये बाते पत्रिका अमृतम् जलम् अभियान के तहत महेंद्र सागर तालाब को संवारने आए छात्र-छात्राओं के साथ प्रोफेसरों ने जल संरक्षण का संदेश देते हुए कॉलेज छात्र आलोक पस्तोर, सुमित, अभिजीत यादव और मनोज वाल्मिकी ने कही।

Hindi News/ Tikamgarh / पत्रिका के अमृतम् जलम् अभियान में कॉलेज के छात्रों ने लिया भाग

ट्रेंडिंग वीडियो