scriptConstruction of Dhasan bridge could not be completed in 40 months | 40 माह में पूरा नहीं हो सका 23 माह में बनने वाले धसान पुल का निर्माण | Patrika News

40 माह में पूरा नहीं हो सका 23 माह में बनने वाले धसान पुल का निर्माण

- जर्जर पुल से गुजर रहे वाहन, हादसें की संभावना, बारिश में बंद हो जाता है पुल

टीकमगढ़

Published: February 17, 2022 08:14:28 pm

टीकमगढ़/बड़ागांव. बड़ागांव के पास धसान नदी पर बनाए जा रहे पुल में चल रही लापरवाहियों के चलते यह 40 माह में भी पूरा नहीं हो सका है। देखा जाए तो पुल का अब तक आधा काम भी नहीं हुआ है। इसके लिए न तो विभाग प्रयास करता दिख रहा है और ही प्रशासन इस पर ध्यान दे रहा है।

Construction of Dhasan bridge could not be completed in 40 months
Construction of Dhasan bridge could not be completed in 40 months


सालों की मांग के बाद बड़ागांव की धसान नदी का पुल स्वीकृत हुआ तो लोगों को लगा था कि अब बारिश में होने वाली परेशानी का स्थाई निदान हो जाएगा। विदित हो कि बारिश के समय में पुल पर पानी आ जाने से जहां यह मार्ग अवरूद्ध हो जाता है, वहीं सालों पुराना हो चुका यह पुल जर्जर भी हो चुका है। ऐसे में इस पुल से आवागमन भी सुरक्षित नहीं है। ऐसे में शासन द्वारा इस नदी पर पुल स्वीकृत किया था। पुल स्वीकृत होने के बाद इसका निर्माण भी शुरू कर दिया गया था, लेकिन कछुआ गति से चल रहे निर्माण के कारण निर्धारित समय सीमा पूर्ण होने के बाद भी पुल का काम अधूरा पड़ा है।

2020 में पूरा होना था काम
धसान नदी पर बनने वाले 420 मीटर लंबे पुल के लिए ब्रिज कॉपोरेशन द्वारा 1398 लाख रुपए की राशि स्वीकृत की गई थी। माधव इंफ्रा द्वारा इसके लिए 21 अक्टूबर 2018 को काम शुरू किया गया था और यह काम 8 सितम्बर 2020 में पूरा होना था। निर्धारित तिथि से 17 माह अधिक होने के बाद भी यह पुल पूरा नहीं हो सका है। आलम यह है कि ठेकेदार द्वारा अब तक पूरे पिलर भी तैयार नहीं किए गए है। वहीं कुछ समय से तो काम जैसे बंद ही पड़ा है।


किसी का नहीं ध्यान
महिनों से बंद पड़े इस काम पर किसी का ध्यान नहीं है। न ही प्रशासन इसके लिए कोई प्रयास कर रहा है और न ही जनप्रतिनिधियों का इस पर ध्यान है। वहीं विभाग भी कुंभकरण की नींद सो रहा है। इस पुल के निर्माण के लिए ठेकेदार द्वारा दोनों ओर फैलाई गई सामग्री से यहां पर आवागमन भी बाधित हो रहा है। इसके बाद भी किसी को इसका ध्यान नहीं है। लोगों ने प्रशासन से इसके लिए प्रयास करने की मांग की है। इस मामले में ब्रिज कॉपोरेशन के कार्यपालन यंत्री पीएस पंत से की तो उन्होंने मामला सुनते ही फोन काट दिया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.