Breaking News- तंत्र-मंत्र से रूपए दोगुने कराने के चक्कर में लुटवा दिए थे 70 हजार, आरोपी गिरफ्तार

Anil Kumar Rawat

Publish: May, 19 2019 01:34:49 PM (IST)

Tikamgarh, Tikamgarh, Madhya Pradesh, India

जयदीप यादव


टीकमगढ़. भले ही दुनिया इक्कीसवीं सदी में प्रवेश कर संचार क्रांति के दौर से गुजर रही है, लेकिन बुंदेलखण्ड के टीकमगढ़ जिले में आज भी लोग तंत्र-मंत्र, जादू-टोना के चक्कर में लुट रहे है। ताजा मामले का खुलासा पुलिस ने एक लूट की घटना के साथ किया है। इस मामले में अपनी बेटी को ठीक कराने एवं रूपए दुगने कराने के चक्कर में एक युवक अपने 70 हजार रूपए गवां चुका था। पुलिस ने इन आरोपियों को गिरफ्तार कर लूट की राशि भी बरामद कर ली है।

रविवार को पुलिस कंट्रोल रूप में एसपी अनुराग सुजानिया ने लूट की घटना का खुलासा किया। लगभग 10 दिन पूर्व 10 मई को जेरौन थाने के ग्राम मौजीपुरा निवासी महेन्द्र पुत्र मेहरवान यादव के साथ अज्ञात लोगों ने लूट की घटना को अंजाम दिया था। यह घटना उस समय हुई थी जब महेन्द्र यादव अपनी पुत्री के शादी के कार्ड बांटने के लिए मवई आया था। कार्ड बांट कर वापस जाते समय आरोपियों ने सुनौनी के जंगलों में महेन्द्र के बैग में रखे 70 हजार रूपए लूट लिए थे। इस घटना की जानकारी होने के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी थी, वहीं एसपी सुजानिया ने आरोपियों पर 10 हजार रूपए का इनाम घोषित किया था।


गिरफ्तार हुए आरोपी: इस घटना के संबंध में पुलिस द्वारा सक्रिय किए गए मुखबिर, साइबर सेल एवं महेन्द्र द्वारा बताई गई घटना के आधार पर जांच करते हुए घटना के दो मुख्य आरोपी राकेश पुत्र बागनाथ सपेरा निवासी लारखुर्द एवं सुल्तान पुत्र केदारनाथ निवासी सैपुरा को गिरफ्तार कर लिया है। इन आरोपियों के पास से पुलिस ने लूट किए गए रूपयों मेंसे 54 हजार रूपए भी बरामद कर लिए है। पुलिस लूट की इस घटना में शामिल मनोहर पुत्र बागनाथ सपेरा, नंदलाल पुत्र गिरवरनाथ सपेरा एवं हनुमत पुत्र चतुरनाथ सपेरा की तलाश कर रही है।

यह था पूरा मामला: मामले की जानकारी देते हुए एसपी सुजानिया ने बताया कि महेन्द्र यादव द्वारा जब पुलिस से शिकायत की गई तो लूट की घटना की सच्चाई नही बताई। इस कारण पुलिस को थोड़ी समस्या हुई। उन्होंने बताया कि हकीकत में महेन्द्र राकेश सपेरा के तंत्र-मंत्र के बहकावे में आ गया था। महेन्द्र की पुत्री बीमार रहती है। उसके इलाज के लिए परेशान हो रहे महेन्द्र की मुलाकात राकेश से हुई। राकेश ने उसकी पुत्री को तंत्र-मंत्र से ठीक करने की बात कहीं। इसके लिए उसने सवा लाख रूपए का खर्च बताया। इस पर महेन्द्र ने कहा कि वह इतने पैसी की व्यवस्था नही कर सकता है। तब राकेश ने उसके पैसे भी दुगने करने की बात कहीं। इस पर महेन्द्र शादी के लिए जमा किए गए 70 हजार रूपए लेकर यहां पहुंचा था। यहां पर आरोपियों ने उसके साथ तंत्र-मंत्र का नाटक रच कर पैसे उसके बैग में वापस रखवा दिए और कहा कि घर जाने पर उसके पैसे दोगुने हो जाएंगे। जैसे ही महेन्द्र वहां से निकला कि आरोपियों ने पूर्व नियोजित योजना के अनुसार सिनौनी के जंगल के पास उसके साथ लूट कर ली। उन्होंने कहा कि कुछ घटनाएं ऐसे ही लोगों के प्रलोभन में आने से होती है। लोगों को इससे बचना चाहिए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned